scorecardresearch
 

एस्ट्रो अंकल: महापर्व छठ पर मिलेगा मान- सम्मान

एस्ट्रो अंकल: महापर्व छठ पर मिलेगा मान- सम्मान

छठ के अंतिम दिन यानी सप्तमी तिथि को सूर्य को अरुण वेला में अंतिम अर्घ्य दिया जाता है. यह अर्घ्य सूर्य की पत्नी "ऊषा" को दिया जाता है. इस अर्घ्य को देने के साथ ही छठ पर्व का समापन हो जाता है. इस अर्घ्य को देने के बाद महिलाएं जल पीकर और प्रसाद खाकर छठ व्रत का पारायण करती हैं. अगर छठ का अंतिम अर्घ्य भी दे दिया जाय तो भी बहुत सारी मनोकामनाएं पूरी हो सकती हैं. इस बार छठ का अंतिम अर्घ्य 14 नवंबर को दिया जाएगा. पटना में 14 नवंबर को सूर्योदय का समय 06:06 बजे होगा. देखें- ये पूरा वीडियो.

Chhath Puja is an ancient Hindu festival and the only Vedic Festival devoted to the Hindu Sun God, Surya and his wife Goddess Usha. The puja ensues from the word Sashthi meaning sixth day of the bright half of the lunar month during the Karthik that comes six day after Diwali. The main highlight of this puja is the worship of Sun God on the riverside. Chhath Puja is performed to thank Surya for being the primordial force sustaining life on earth.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें