scorecardresearch
 

कैस होती है ATM और फोन की Hacking? जाने लें ये तरीके, ऐसे हैकर्स चुराते हैं पासवर्ड

Typing of Hacking: हैकिंग के कई तरीके होते हैं. फोन के पासवर्ड से ATM के पिन तक को हैक करने के लिए अलग-अलग तरीके अपनाए जाते हैं. हैकिंग के इन तरीकों को अलग नाम दिए गए हैं. आइए जानते हैं कैसे हैकर्स लोगों के पासवर्ड और पिन चोरी करते हैं.

X
Hacking Hacking
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कई तरह से होती है ATM और फोन की हैकिंग
  • ज्यादातर हैकिंग में 8 अंक से ज्यादा का होता है कोड
  • लोग सीजन का नाम भी करते हैं पासवर्ड में यूज

मोबाइल सिक्योरिटी हो या फिर सोशल मीडिया अकाउंट- इन्हें सुरक्षित रखने के लिए पासवर्ड का इस्तेमाल किया जाता है. क्या हो अगर आपकी कुछ गलतियों के वजह से आपका पासवर्ड लीक हो जाए? या फिर आपकी आदतों की वजह से कोई आपके पासवर्ड का अंदाजा लगा ले?

साल 2022 की Weak Password Report आ गई है. इस रिपोर्ट में लोगों के पासवर्ड रखने के तरीकों को लेकर कई चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं. आइए जानते हैं क्या कहती है 'कमजोर पासवर्ड रिपोर्ट'. 

चूंकि लोगों को सोशल मीडिया अकाउंट्स से लेकर ऑफिस के मेल तक के लिए पासवर्ड की जरूरत होती है. ऐसे में कई बार इन पासवर्ड्स को कुछ-कुछ दिनों पर अपडेट भी करना पड़ता है.

वैसे तो यह एक अच्छी प्रैक्टिस है, लेकिन कई बार खराब आदत इस प्रैक्टिस को भी बिगाड़ देती है. रिपोर्ट की मानें तो लोग अपने डेटा को प्रोटेक्ट करने के लिए पुराने पासवर्ड्स (मामूली बदलाव करके) का ही इस्तेमाल करते हैं. उनके नए पासवर्ड पुराने पैटर्न या कॉमन थीम पर ही बेस्ड होते हैं. 

क्या कहती है रिपोर्ट?

स्वीडन के पासवर्ड मैनेजमेंट और ऑथेंटिकेशन सॉल्यूशन वेंडर Specops Software की लेटेस्ट रिपोर्ट के मुताबिक, ब्रूट फोर्स अटैक (हैकिंग का एक तरीका) में इस्तेमाल होने वाले 93 परसेंट पासवर्ड  8 या ज्यादा कैरेक्टर के होते हैं. वहीं 54 परसेंट ऑर्गेनाइजेशन के पास वर्क पासवर्ड मैनेज करने के लिए कोई टूल नहीं है. रिपोर्ट की मानें तो 42 परसेंट सीजनल पासवर्ड में Summer शब्द पाया गया है. 

Brute force attack, Shoulder surfing और social engineering हैकिंग के कुछ तरीके होते हैं, जिसकी मदद से साइबरअटैक या पासवर्ड हैक किए जाते हैं. इन तरीकों से हैकर्स आपके पासवर्ड का पता लगाते हैं.

ये हैं हैकिंग के तरीके

Brute force attack में हैकर्स यूजर्स के पासवर्ड का अंदाजा लगाते हैं. इसमें स्कैमर्स हैकिंग सॉफ्टवेयर की मदद से कुछ कॉम्बिनेशन का इस्तेमाल करके यूजर्स के पासवर्ड को क्रैक करने की कोशिश करते हैं. 

सोशल इंजीनियरिंग भी हैकिंग का एक तरीका है. इस हैकिंग तरीके में हैकर्स एक फर्जी सोशल इंजीनियरिंग वेबसाइट बनाते हैं, जिसमें कोई यूजर अपने क्रेडेंशियल्स डालता है और उनके जाल में फंस जाता है. इस तरह के पेज देखने में बिलकुल असली जैसे होते हैं, लेकिन यह आपको सोशल मीडिया अकाउंट पर नहीं हैकिंग के जाल में लेकर जाते हैं.

Credential stuffing भी हैकिंग का एक तरीका है, जिसमें हैकर्स स्पाईवेयर और इस तरह के मालवेयर के जरिए किसी यूजर के क्रेडेंशियल्स को चोरी करते हैं. डार्क वेब पर लीक हुए पासवर्ड्स की कई लिस्ट मौजूद हैं और साइबर अपराधी इनका इस्तेमाल भी हैकिंग में करते हैं. 

Keylogger attack: इस तरह के अटैक में स्पाईवेयर की मदद से हैकर्स आपके की-बोर्ड टाइपिंग को ट्रैक और रिकॉर्ड करते हैं. इस तरह ही हैकिंग से बचने के लिए आपको अपने फोन में एक भरोसेमंद एंटीवायरस रखना चाहिए.

Password spray attack: जब कोई हैकर चोरी किए हुए लाखों पासवर्ड का इस्तेमाल थोड़े से अकाउंट्स पर करता है, तो इसे पासवर्ड स्पे अटैक कहते हैं. इससे बचने के लिए आपको अपने पासवर्ड निश्चित समय पर बदलते रहने चाहिए. 

Shoulder surfing: आपने कई बार लोगों को दूसरों के फोन में ताका-झांकी करते हुए देखा होगा. हैकर्स भी इसी तरह से कई बार पासवर्ड चोरी तरते हैं. इसे Shoulder surfing करते हैं. इस तरह की घटना ATM के पिन चोरी करने में होती है. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें