scorecardresearch
 

एयर कंडीशनर से मिलेगी ज्यादा कूलिंग, इन बातों का रखना होगा ध्यान, घर पर हो जाएगा जुगाड़

Air Conditioner Tips for Summer: इस बार गर्मी ने वक्त से पहले दस्तक दे दी है और इससे राहत पाने के लिए AC का इस्तेमाल बहुत से लोग कर रहे हैं. हालांकि, कई बार एसी की कूलिंग असरदार नहीं होती है. आइए जानते हैं आप किस तरह से कूलिंग बढ़ा सकते हैं.

X
Air Conditioner Tips for Summer Air Conditioner Tips for Summer
स्टोरी हाइलाइट्स
  • AC में बेहतर कूलिंग के लिए अपनाएं कुछ टिप्स
  • कमरे और एसी का साइज दोनों करता है मैटर
  • ज्यादा लोगों के होने से कम होती कूलिंग

गर्मी के आते ही घरों में एयर कंडीशनर का यूज शुरू हो गया है, लेकिन बहुत से लोगों की शिकायत होती है कि उनका एसी पर्याप्त कूलिंग नहीं करता है. अगर आपके साथ ही भी इस तरह की दिक्कत होती है, तो आप आसानी से घर पर इसे ठीक कर सकते हैं. इसके लिए आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा.

कई बार दिक्कत एसी की नहीं बल्कि हमारे यूज करने के तरीके में होती है. आइए जानते हैं ऐसे कुछ तरीके जिनके जरिए घर में लगा एसी पहले से ज्यादा कूलिंग आपको देगा. 

कूलिंग मोड का रखें ध्यान

नए जमानें के AC में आपको कई सारे मोड्स मिलते हैं. इसमें कूल, ड्राई, हॉट, फैन समेत कई ऑप्शन दिए गए हैं. बेहतर कूलिंग के लिए ध्यान रखें कि एसी Cool Mode में ही हो. 

सफाई भी है जरूरी

किसी भी दूसरे इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्ट की तरह एसी को भी सर्विस की जरूरत होती है. समय पर सर्विस नहीं तो कम से कम सफाई जरूर करें. खासकर फ्लिटर्स की. दरअसल, फिल्टर ब्लॉक होने की वजह से कई बार बेहतर कूलिंग नहीं मिल पाती है. इससे एयरफ्लो और कूलिंग दोनों ही प्रभावित होती है. इसलिए इन्हें समय-समय पर साफ करते रहें. 

खिड़की दरवाजों का भी रखना होगा ध्यान

घर में बेहतर कूलिंग के लिए ध्यान रखें कि दरवाजे और खिड़की बंद हो. अगर किहीं से भी एयर पास होती रहेगी तो कमरा ठंडा नहीं हो सकेगा. इसलिए बेहतर कूलिंग के लिए ध्यान रखें कि आपके कमरे में एसी की हवा ज्यादा देर तक रुकी रह सके. 

सन-लाइट का भी पड़ेगा असर

अगर आपके कमरे में सीधे लाइट आती है, तो इसका असर एसी की कूलिंग पर निश्चित रूप से पड़ेगा. इसके लिए आपको कमरे की खिड़की और दरवाजे पर लगे पर्दों को बंद रखना चाहिए, जिससे सुरज की रोशनी सीधे कमरे में न आ सके. 

कमरे का साइज करता है मैटर

कमरे का साइज भी काफी मायने रखता है. अगर आप एक टन का एसी यूज कर रहे हैं, तो यह 100 स्कॉयर फीट तक के कमरे को ही कूल रख सकता है. वहीं अगर आपके कमरे का साइज 150 स्कॉयर फीट है, तो आपको 1.5 टन क्षमता वाला एसी यूज करना होगा, जबकि 200 स्कॉयर फीट वाले कमरों के लिए आपको 2 टन की क्षमता वाला एसी चाहिए होगा. 

ज्यादा लोग = कम कूलिंग

कमरे में अगर ज्यादा लोग मौजूद होंगे, तो इसका प्रभाव भी एसी की कूलिंग पर पड़ता है. ज्यादा लोगों के होने की वजह से कूलिंग कम होगी. यानी कमरे में कम लोग होंगे, तो एसी की कूलिंग ज्यादा और ज्यादा लोग होंगे तो कूलिंग कम होगी. आउटडोर यूनिट को भी सन लाइट से दूर रखना चाहिए. इससे भी आपको बेहतर कूलिंग मिलेगी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें