scorecardresearch
 

वायरस के खौफ से दिलाई थी निजात, टैक्स चोरी का था आरोप, जानें कौन थे McAfee

दुनियाभर में एंटीवायरस गुरु के नाम से जाने जाने वाले जॉन मैकेफी ने बुधवार को जेल में फांसी लगा ली. जॉन की उम्र 75 साल थी. उन्होंने ये कदम स्पेन से अमेरिका प्रत्यर्पित करने के मामले में फैसला आने के बाद उठाया.

X
John McAfee John McAfee
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जॉन मैकेफी पर टैक्स चोरी के थे आरोप
  • एंटीवायरस गुरु के नाम से जाने जाते थे McAfee
  • McAfee एसोसिएट्स की स्थापना 1987 में की थी

दुनियाभर में एंटीवायरस गुरु के नाम से जाने जाने वाले जॉन मैकेफी ने बुधवार को जेल में फांसी लगा ली. जॉन की उम्र 75 साल थी. उन्होंने ये कदम  स्पेन से अमेरिका प्रत्यर्पित करने के मामले में फैसला आने के बाद उठाया. मैकेफी के सुसाइड के बाद जेल प्रशासन की ओर से कहा गया कि उनके मौतों के कारणों की छानबीन जारी है.

कौन थे जॉन मैकेफी?

उनका पूरा नाम John David McAfee था. वे ब्रिटिश-अमेरिकन कम्प्यूटर प्रोग्रामर और बिजनेसमैन थे. उनका जन्म 18 सितंबर 1945, सिंडरफोर्ड, यूनाइटेड किंगडम में हुआ था. उन्होंने एंटीवायरस सॉफ्टवेयर कंपनी McAfee एसोसिएट्स की स्थापना 1987 में की थी और इसे 1994 चल चलाया और बाद में इस कंपनी से इस्तीफा दे दिया. बाद में साल 2011 में इस कंपनी को Intel ने खरीद लिया. हालांकि, इस कंपनी में McAfee ब्रैंड नेम अभी भी जारी है.

साल 1987 में दुनिया की पहली कमर्शियल एंटी-वायरस कंपनी बनाने से पहले McAfee ने NASA, Xerox और Lockheed Martin जैसी कंपनियों में काम किया था. McAfee एक राजनीतिक कार्यकर्ता भी थे. वे क्रिप्टोकरेंसी प्रमोटर भी थे.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, 1980 के दशक में एंटीवायरस सॉफ़्टवेयर के साथ भाग्य बनाने के बाद से, McAfee एक स्वयंभू क्रिप्टोक्यूरेंसी गुरु बन गए थे, जो एक दिन में $ 2,000 बनाने का दावा करते थे. इसके बाद उनका जीवन ड्रग्स, हथियारों और यहां तक ​​कि हत्या से जुड़े विवादों तक में सुर्खियों में रहा.

जॉन मैकेफी के खिलाफ क्या आरोप थे?

McAfee अक्टूबर 2020 में बार्सिलोना हवाई अड्डे पर गिरफ्तार होने के बाद से स्पेन की जेल में थे. उन्हें इस्तांबुल के लिए एक फ्लाइट में सवार होने से पहले ही गिरफ्तार किया गया था. उन पर टैक्स चोरी का आरोप लगाया गया था. उन पर आरोप था उन्होंने 2014 से 2018 के बीच टैक्स रिटर्न फाइल नहीं किया था, जबकि, वे कंसल्टिंग वर्क, क्रिप्टोकरेंसी और अपनी लाइफ स्टोरी के राइट्स बेचकर लाखों कमा रहे थे.

जेल में फांसी

75 वर्षीय जॉन मैकेफी ने बुधवार को अपनी प्रिजन जेल में फांसी लगा ली. उनके वकील जेवियर विलालबास ने  न्यूज एजेंसी रॉयटर्स को बताया कि जॉन मैकेफी को स्पेन की अदालत ने संयुक्त राज्य अमेरिका में प्रत्यर्पण को मंजूरी दे दी. इसके बाद ही मैकेफी ने ये कदम उठाया. टैक्स चोरी के मामलों में उन्हें अमेरिका को सौंपने के आदेश दे दिए गए थे. हालांकि, जॉन के पास अदालती फैसलों के खिलाफ अपील करने का विकल्प बचा हुआ था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें