scorecardresearch
 

इस 13 साल की भारतीय लड़की का कमाल! ये खास ऐप बना कर हासिल किया 50 लाख का फंड

Kavach ऐप का मकसद काफी सिंपल है. इसके जरिए देशभर के बच्चों और स्कूलों तक पहुंच कर उन्हें एंटी-बुलिंग के बारे में बताना है. इसमें वेबिनार और वन-ऑन-वन टॉक के जरिए बुलिंग के खिलाफ जागरूक किया जाएगा. 

X
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Kavach ऐप का आइडिया जजों को आया पसंद
  • जानिए क्या है Kavach ऐप और कैसे करेगा काम

13 साल की Anoushka Jolly को उनके App के लिए 50 लाख रुपये की फंडिंग दी गई है. रियलिटी शो Shark Tank India पर उन्हें ये फंडिंग दी गई है. Anoushka Jolly ने एंटी-बुलिंग ऐप 'Kavach' का आइडिया जजों के सामने रखा था. 

Kavach ऐप का मकसद काफी सिंपल है. इसके जरिए देशभर के बच्चों और स्कूलों तक पहुंच कर उन्हें एंटी-बुलिंग के बारे में बताना है. इसमें वेबिनार और वन-ऑन-वन टॉक के जरिए बुलिंग के खिलाफ जागरूक किया जाएगा. 

'Kavach' ऐप से पेरेंट्स और स्टूडेंट्स बुलिंग की घटना को रिपोर्ट कर सकते हैं. वो अपनी पहचान छुपाकर भी ऐसा कर सकते हैं. इससे स्कूल और काउंसलर को ऐसी घटनाओं में दखल देकर एक्शन लेने का मौका दिया जाएगा.

सबसे दिलचस्प बात ये है कि ये पहली बार नहीं है कि Anoushka Jolly बुलिंग के खिलाफ कुछ कर रही है. Shark Tank India पर उन्होंने अपने जर्नी के बारे में बताते हुए कहा कि ये पहली बार तब हुआ जब उनके दोस्तों ने उन्हें चिढ़ाया था. 

इसके बाद उन्होंने Anti Bullying Squad (ABS)बनाया. इससे एजुकेशनल इंस्टिट्यूट, सोशल ऑर्गेनाइजेशन और एक्सपर्ट्स को मदद मिली. इसने अभी तक 100 से ज्यादा स्कूल और कॉलेज के 2,000 से ज्यादा बच्चों की मदद की है. 

13 साल की Anoushka ABS डिजिटल प्लेटफॉर्म को पिछले तीन साल से चला रही है. न्यूज एजेंसी PTI की एक रिपोर्ट के अनुसार Anoushka ने बताया ऐसी घटनाएं की शिकायत दर्ज नहीं की जाती है इसलिए समाधान नहीं मिलता है. 

इसके कारण उन्हें एंटी-बुलिंग ऐप Kavach बनाने का आइडिया आया. इस आइडिया को Shark Tank के जज ने भी काफी पसंद किया और वो 50 लाख रुपये इस ऐप में इनवेस्ट करेंगे ताकि इसे ज्यादा फैलाया जा सके. 

आपको बता दें Shark Tank India का पहला सीजन अभी चल रहा है. इसमें 50,000 एप्लीकेशन से 198 कैंडिडेट को सेलेक्ट किया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें