scorecardresearch
 

WhatsApp चैट लीक से परेशान बॉलीवुड स्टार्स करवा रहे हैं फोन का डेटा डिलीट, क्या ये संभव है?

WhatsApp दावा करता है कि उसका प्लेटफॉर्म पूरी तरह से सिक्योर है. प्लेटफॉर्म पर शेयर होने वाले सभी मैसेज या मीडिया एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होते हैं. इसे कोई और एक्सेस नहीं कर सकता है. लेकिन, क्या सचमुच ऐसा है?

WhatsApp WhatsApp
स्टोरी हाइलाइट्स
  • WhatsApp चैट्स को लेकर फिर चर्चा शुरू हो गई है
  • WhatsApp दावा करता है कि उसका प्लेटफॉर्म पूरी तरह से सिक्योर है
  • कई तरीके हैं जिससे फोन के डेटा को डिलीट किया जा सकता है

मुंबई ड्रग्स केस में बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान और अनन्या पांडे का नाम आने के बाद WhatsApp चैट्स को लेकर फिर चर्चा शुरू हो गई है. इन सेलिब्रिटी के WhatsApp चैट्स को भी इन्वेस्टिगेशन में यूज किया जा रहा है. WhatsApp चैट्स का लीक होना या उसका इन्वेस्टिगेशन में यूज होना काफी नॉर्मल हो गया है. 

WhatsApp दावा करता है कि उसका प्लेटफॉर्म पूरी तरह से सिक्योर है. प्लेटफॉर्म पर शेयर होने वाले सभी मैसेज या मीडिया एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड होते हैं. इसे कोई और एक्सेस नहीं कर सकता है. India Today TV के अनुसार अनन्या पांडे और आर्यन खान के बीच हुई बातचीत को NCB ने रिकवर कर लिया है. 

सोर्स के अनुसार इससे कई बॉलीवुड स्टार अलर्ट हो गए हैं. उनके पास छिपाने के लिए कुछ हो या नहीं हो लेकिन वो अपने फोन को वाइप करवा के मैसेज, फोटो और दूसरे डेटा को डिलीट करवाना चाहते हैं. वो प्राइवेसी के लिए ऐसा करवाना चाह रहे हैं. 
 
अब ऐसे में सवाल उठता है क्या ये पॉसिबल है कि स्मार्टफोन के सभी डेटा को बिना किसी ट्रेस छोड़े डिलीट कर दिया जाए? यहां पर इन सवालों के जवाब जानने की कोशिश करते हैं. 

कई तरीके हैं जिससे फोन के डेटा को डिलीट किया जा सकता है. आप फोन के डेटा को फिजिकल स्टोरेज से क्लीन कर सकते हैं. इसके अलावा आप फैक्ट्री रिसेट करके भी डेटा को हटा सकते हैं या आप क्लाउड या बैकअप ड्राइव पर स्टोर डेटा को डिलीट कर सकते हैं. यहां सभी के बारे में बारी-बारी से जानते हैं. 

फिजिकल स्टोरेज को क्लीन करना

कोई भी डिवाइस जैसे फोन. टैबलेट या लैपटॉप डेटा को फिजिकल स्टोरेज या क्लाउड पर स्टोर करता है. फिजिकल स्टोरेज को इंटरनल स्टोरेज भी कहा जाता है. आप जब इंटरनल स्टोरेज से किसी फोटो या वीडियो को डिलीट करते हैं तो तुरंत डिलीट ना होकर बिन में चले जाते हैं. इसे आप लगभग एक महीने तक रिकवर कर सकते हैं.  

फाइल पूरी तरह से डिलीट होने के मैथेड को अलग-अलग डिवाइस अलग-अलग तरीकों से हैंडल करते हैं. ट्रेंडिशनली सभी स्टोरेज सिस्टम जो हार्ड ड्राइव या कार्ड स्टोरेज का यूज करते हैं वो राइटेबल और नॉन-राइटेबल सेक्टर बनाते हैं. जब तक आपके फोन में कोई डेटा है वो नॉन-राइटेबल है जैसे ही आप उसे डिलीट करते हैं वो राइटेबल बन जाता है.

डेटा तब तक ओवर राइट नहीं होता है जबतक कोई फ्रेश डेटा नहीं आ जाता है. इसका मतलब कोई डेटा डिलीट करने के बाद उसे परमानेंट हटाने के लिए आपको कई फालतू डेटा लगातार डिलीट करते रहना होगा ताकि पुराना डेटा डिलीट होता चला जाए. इसके लिए कई प्रोग्राम्स उपलब्ध हैं. Edward Snowden के अनुसार आप प्राइवेसी को लेकर चिंतित है तो इसे आपको जला देना चाहिए. 

स्मार्टफोन को फैक्ट्री रिसेट करना

कई कंपनियां दावा करती हैं कि इससे आपके फोन का डेटा पूरी तरह से डिलीट हो जाएगा. फैक्ट्री रिसेट से आप अपने फोन को उस कंडीशन में भेज सकते हैं जब ये फैक्ट्री से निकल कर आया था. फैक्ट्री रिसेट के बाद फोन को फिर से सेटअप करना होगा.  
कंपनी का दावा है कि इन डेटा को रिकवर नहीं किया जा सकता है. ये यूजर्स के केस में सही है. लेकिन, इसका पता नहीं लगाया जा सकता है कि स्मार्टफोन मेकर इसको एक्सेस कर सकते हैं या नहीं.

अगर वो इन डेटा को सरकारी एजेंसी के साथ शेयर करते हैं तब भी यूजर्स को इसके बारे में पता नहीं चलेगा. यानी फैक्ट्री रिसेट के बाद भी डेटा को रिकवर करने की संभावना हो सकती है. 

क्लाउड स्टोरेज से डेटा हटाना
 
ज्यादातर यूजर्स का काफी डेटा क्साउड पर स्टोर होता है. इसका कारण फिजिकल मेमोरी कम होना है. इसको आप मैन्युअली डिलीट कर सकते हैं. यहां पर आपको फिर बता दें डिलीट करने के बाद भी कई दिन तक ये डेटा को रिकवर करने का ऑप्शन देते हैं यानी आपको 'Recently Deleted' फोल्डर से भी डेटा को हटाना जरूरी है. 

आपको बता दें कि फोन वाइप करना उतना आसान नहीं है जितना लगता है. अगर आप ऊपर के सभी स्टेप्स को फॉलो भी करते हैं तो इसकी गारंटी नहीं है कि स्मार्टफोन मेकर डेटा को अपने एंड पर स्टोर नहीं कर रख रहे हैं.

हालांकि, वो ये प्रॉमिस करते हैं उनके पास कोई डेटा स्टोर नहीं होता है. यानी कोई इतनी आसानी से डेटा को डिलीट नहीं कर सकता है. इश वजह से प्राइवेसी को लेकर सुपरस्टार को ज्यादा सतर्क रहने की जरूरत है. 
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें