scorecardresearch
 

TikTok ने शुरू की छंटनी, Bolo Indya ऐप ने कहा, हम करेंगे हायरिंग

चीनी कंपनी Bytedance ने भारत में टिक टॉक बैन होने के बावजूद अब तक अपनी टीम से लोगों को नहीं निकाला था. लेकिन अब जब इसे स्थाई बैन की बात चल रही है तो ऐसे में कंपनी ने भारतीय इंप्लॉइज की छंटनी शुरू कर दी है.

Photo for representation Photo for representation
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Tik Tok पर बैन के बाद अब कंपनी भारतीय टीम की छंटनी कर रही है.
  • कई लोगों को टिक टॉक ने जॉब से निकाल दिया है, अब वापसी मुश्किल.

TikTok की पेरेंट कंपनी ने भारत से अपने कर्मचारियों को निकालना शुरू कर दिया है. TikTok की भारत में अब वापसी मुश्किल है और इस वजह से भारत में कंपनी के 1,800 कर्माचारियों को जॉब से निकाला जा सकता है. हालांकि फिलहाल ये साफ नहीं है कि कंपनी सभी को निकालेगी या टीम छोटी करेगी. 

इसी बीच भारत में बने शॉर्ट वीडियो प्लेटफार्म ऐप Bolo Indya ने टिकटॉक से निकाले गए एम्प्लॉईज को हायर करने की बात कही है. ये हायरिंग अलग-अलग डोमेन के लिए होगी. 

इनमें बिजनेस डेवलपमेंट, यूजर इंगेजमेंट, प्रोडक्ट मैनेजमेंट, कम्यूनिटी मैनेजमेंट, कंटेंट स्ट्रैटेजी, कंटेंट मॉडरेशन फंक्शन्स जैसे डोमेन शामिल है. इसके अलावा कंपनी लीडरशिप टीम बढ़ाने के लिए सीनियर लेवल पॉजिशन पर भी हायरिंग करेगी. 

कंपनी ने हाल ही में नए फंडिंग को लेकर घोषणा की है. कंपनी ने बताया कि फंडिंग को लेकर एडवांस लेवल की बातचीत हो रही है. जल्द ही नई फंडिंग उन्हें मिल जाएगी. 


इसका इस्तेमाल वो अपनी टीम के साथ-साथ अपने बोलो मीट्स प्लेटफॉर्म को मजबूत करने के लिए करेंगे. इससे नई इंटरैक्टिव टूल्स को भी लाया जाएगा. जिससे कंटेंट मोनेटाइजेशन को और मजबूत किया जाएगा.

Bolo Indya के सीईओ और संस्थापक वरुण सक्सेना ने कहा कि भारत में चीनी ऐप पर बैन से भारतीय प्रतिभा वेस्ट हो रही है. इन कंपनियों में काम करने वाले भारतीय अत्यधिक प्रतिभाशाली और उत्साही हैं. हम उनमें से कुछ के लिए काफी उत्सुक है. उन्हें हम हमारी यात्रा का हिस्सा बनाना चाहते है. जो सोशल कैपिटल से फाइनेशिंयली स्ट्रांग बनें. साथ ही कंपनी के प्लेटफार्म का यूज कर ऐप के यूजर एक्सपीरियंस को भी बेहतर बनाएं.

चीनी कंपनी ByteDance ने अपने एम्प्लॉईज को इंटरनल मेमो भेजा है. जिसमें कहा गया है कि भारत में वो अपनी टीम का साइज छोटा करेंगे. आशा करते है कि ये स्थिती जल्द ठीक हो जाएगी. इसमें में आगे कहा गया है कि ऐप्स के बैन रहने पर हम पूरे स्टाफ के साथ काम नहीं कर सकते है. हमें नहीं पता है कि हम भारत में कब वापसी करेंगे.

अभी हाल में भारत सरकार ने टिकटॉक समेत 59 ऐप्स पर हमेशा के लिए बैन लगा दिया था. यूजर्स के डेटा और ऐप्स की पॉलिसी को रिव्यू करने के बाद इनपर हमेशा के लिए बैन लगा दिया गया. जिसके बाद टिकटॉक से एम्प्लॉईज की छंटनी की खबर आई थी. चीनी ऐप्स पर बैन का सिलसिला पिछले साल से भारत-चीन बार्डर पर तनाव के बाद शुरू हुआ.
 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×