scorecardresearch
 

हो रहा है Ransomware अटैक, हैकर्स कर देते हैं डिवाइस लॉक, फिर करते हैं पैसे की मांग

हैकर्स Ransomware अटैक के जरिए लोगों को निशाना बना रहे हैं. लोगों को टारगेट करने के लिए हैकर्स Instagram और TikTok जैसे पॉपुलर ऐप्स का यूज कर रहे हैं.

Hacker Hacker
स्टोरी हाइलाइट्स
  • इंटरनेट पर स्कैमर्स और हैकर्स लगातर एक्टिव रहते हैं
  • अब लोगों को टारगेट करने के लिए हैकर्स Instagram और TikTok जैसे पॉपुलर ऐप्स का यूज कर रहे हैं

इंटरनेट पर स्कैमर्स और हैकर्स लगातर एक्टिव रहते हैं. अब एक रिपोर्ट के अनुसार हैकर्स सीनियर सिटीजन और मिडिल एज्ड लोगों को टारगेट कर रहे हैं. हैकर्स Ransomware अटैक के जरिए इनलोगों को निशाना बना रहे हैं. 

ग्लोबल रिपोर्ट के अनुसार लोगों को टारगेट करने के लिए हैकर्स Instagram और TikTok जैसे पॉपुलर ऐप्स का यूज कर रहे हैं. साइबर सिक्योरिटी कंपनी Avast के रिसर्चर के अनुसार हैकर्स 65 साल या उससे अधिक उम्र और 25 से 35 साल के उम्र वाले लोगों को प्राइमरली टारगेट कर रहे हैं. 

इनमें भी उनलोगों को खासकर टारगेट किया जाता है जो लैपटॉप या कंप्यूटर से ऑनलाइन आते हैं. इनको Ransomware अटैक के जरिए टारगेट किया जाता है. जबकि मोबाइल से ऑनलाइन आने वाले ज्यादातर एज ग्रुप के लोगों को मोबाइल बैंकिग Trojans, एडवेयर, डाउनलोडर और FluBot SMS स्कैम के जरिए टारगेट किया जा रहा है. 

Instagram और TikTok का यूज एडवेयर ऐप्स या Fleeceware को प्रोमोट करने के लिए किया जाता है. रिपोर्ट के अनुसार इसके अलावा यंगर और ओल्डर जेनरेशन को फिशिंग अटैक और रोमांस स्कैम के जरिए निशाना बनाया जाता है. 
इसको न्यूज एजेंसी IANS ने रिपोर्ट किया है. Avast Threat Labs डेटा के अनुसार कंपनी एवरेज 1.46 मिलियन Ransomware अटैक को 2021 के हर महीने में ब्लॉक कर रही है. FluBot काफी तेजी से मोबाइल पर ज्यादातर देश में फैल रहा है. इसमें भारत भी शामिल है. 

हैकर्स सोशल इंजीनियरिंग टैक्टिस का यूज करके विक्टिम के डिवाइस में मैलिशियस और दूसरे अनवाटंड ऐप्स इंस्टॉल करवा देते हैं. Instagram और TikTok के जरिए यूजर्स  को मेलिशियस लिंक वाला मैसेज भेजा जाता है. यूजर्स के इसपर क्लिक करते ही उनके डिवाइस में मैलेशियस ऐप इंस्टॉल हो जाता है और हैकर आसानी से उसे कंट्रोल कर सकते हैं. 

आपको बता दें कि Ransomware यूजर के डिवाइस को इनफेक्ट करके उसका कंट्रोल ले लेता है और उसे लॉक कर देता है. डिवाइस को अनलॉक करने के लिए हैकर्स पैसे की मांग करते हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें