scorecardresearch
 

Metaverse बन सकता है वर्चुअल सेक्सुअल हैरेसमेंट का अड्डा, FB के VR प्लैटफॉर्म पर महिला के साथ छेड़छाड़

Meta (पहले फेसबुक) के वर्चुअल रियलिटी प्लैटफॉर्म पर एक महिला के साथ वर्चुअली छेड़छाड़ की खबर है. महिला ने Meta से इसकी शिकायत की है. महिला के मुताबिक VR स्पेस में छेड़छाड़ इंटरनेट से भी ज्यादा बदतर है.

X
Meta Meta
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Meta के VR प्लैटफॉर्म पर महिला के साथ छेड़छाड़
  • महिला ने की Meta से शिकायत, कंपनी ने जांच शुरू की

मेटावर्स पर इन दिनों दुनिया की बड़े टेक कंपनियां अरबो डॉलर्स का निवेश कर रही हैं. फेसबुक ने हाल ही में अपना नाम बदल कर Meta कर लिया है. क्योंकि मार्क जकरबर्ग को लगता है कि मेटावर्स ही फ्यूचर है. 

Meta ने हाल ही में Horizon World प्लैटफॉर्म लॉन्च किया है. एक महिला बीटा टेस्टर ने आरोप लगाया है कि फेसबुक के वर्चुअल रियलिटी प्लैटफॉर्म पर उनके साथ छेड़-छाड़ हुई है. 

Meta और Metaverse में आप कन्फ्यूज न हों. Meta दरअसल फेसबुक का नया नाम है, जबकि Metaverse एक कॉन्सेप्ट है जिसे इंटरनेट का फ्यूचर माना जा रहा है. मेटावर्स पर सेक्सुअल हैरेसमेंट एक बड़ा चैलेंज बन सकता है और इसकी शुरुआत हो चुकी है.

रिपोर्ट के मुताबिक महिला बीटा टेस्टर ने Meta को कहा है कि उन्हें Horizon Worlds में कुछ अनजान लोगों ने उनके साथ बदसलूकी की है. उन्होंये ये भी कहा कि इस Meta के वर्चुअल में हुई उनकी साथ बदसलूकी को दूसरे लोगों ने भी सपोर्ट किया. 

विक्टिम ने द वर्ज से कहा है, 'सेक्सुअल हैरेसमेंट नॉर्मल इंटरनेट के लिए कोई मजाक नहीं है, लेकिन अगर यही चीज वर्चुअल रियलिटी में होता है तो ये और भी बदतर हो जाता है' 

उन्होंने ये भी कहा है कि Meta के वर्चुअल रियलिटी प्लैटफॉर्म पर न सिर्फ उनके साथ बदसलूकी की गई, बल्कि वर्चुअल स्पेस के दूसरे लोगों ने भी उस शख्स के इस बिहेवियर का सपोर्ट किया है. 

वर्चुअल स्पेस में भी सेक्सुअल हैरेसमेंट का डर... 

मेटावर्स एक वर्चुअल दुनिया की तरह है. यहां लोग अपना अवतार बना कर वर्चुअल रियलिटी हेडसेट और टूल्स के जरिए खुद को मेटावर्स के अलग अलग जगहों पर ले जाते हैं. वर्चुअल गैदरिंग और मेटावर्स में इन दिनों कॉन्सर्ट्स हो रहे हैं.

ऐसे में मेटावर्स में सेक्सुअल हैरेसमेंट भी एक बड़ा चैलेंज बन सकता है. इसका उदाहरण ये ताजा केस है जहां महिला बीटा टेस्टर के साथ Meta के Horizon Worlds में बदसलूकी की गई और उन्हें गलत तरीके से टच किया गया. 

अब आप सोच रहे होंगे कि वर्चुअल स्पेस में कोई किसी को गलत या सही तरीके से टच कैसे कर सकता है? मेटावर्स में दरअसल ये संभव है. 

क्योंकि मेटावर्स में लोगों के अवतार होते हैं जो वर्चुअल स्पेस में एक दूसरे से मिलते हैं और बाते करते हैं. हैडशेक करना और हग करना कॉमन है. ऐसे में सेक्सुअल हैरेसमेंट आने वाले समय में मेटावर्स के लिए बड़ा चैलेंज हो सकता है. 

फेसबुक के वर्चुअल रियलिटी प्लैटफॉर्म Horizon Worlds की बात करें तो ये दरअसल एक वर्चुअल रियलिटी वर्ल्ड है. ये फिलहाल अमेरिका और कनाडा में अवेलेबल है. यहां 18 साल और इससे ज्यादा उम्र के लोग जा सकते हैं. 

फेसबुक के मुताबिक Horizon Worlds मेटावर्स में एंटर करने का शुरुआती स्टेप है. Meta के इस प्लैटफॉर्म के जरिए यूजर्स अपना अवतार बना कर वर्चुअल स्पेस में एक दूसरे के साथ सोशलाइज हो सकते हैं और गेमिंग भी कर सकते हैं. 

महिला बीटा टेस्टर के साथ Horizon Worlds में हुई बदसलूकी के बाद खबर है कि Meta ने इस मामले की इंटर्नल जांच शुरू कर दी है. 

गौरतलब है कि ये घटना 26 नवंबर को हुई और महिला ने 1 दिसंबर को फेसबुक पर पोस्ट के माध्यम से अपने साथ हुई बदसलूकी के बारे में बताया. 9 दिसंबर को Horizon Worlds पब्लिक के लिए लॉन्च किया गया. इससे पहले इसकी बीटा टेस्टिंग हो रही थी और ये महिला भी इसकी हिस्सा थीं. 

Meta Horizon के वाइस प्रेसिडेंट विवेक शर्मा ने इस घटना को शर्मनाक बताया है. उन्होंने वर्ज से कहा है कि ये एक अच्छा फीडबैक है, क्योंकि वो सेफ जोन ब्लॉकिंग टूल बनाना चाहते हैं.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें