scorecardresearch
 

गूगल की पैरेंट कंपनी Alphabet को पीछे छोड़ अमेजॉन बनी अमेरिका की दूसरी बड़ी कंपनी

सीईओ जेफ बेजोस का नेट वर्थ 130 बिलियन डॉलर है जिसकी वजह से वो इस प्लैनेट के सबसे अमीर शख्स हैं. लगातार तीन गूगल के स्टॉक गिरने और अमेजॉन के स्टॉक की उछाल की वजह से ऐल्फाबेट नीचे खिसक गई. 

Representational Image Representational Image

ई-कॉमर्स दिग्गज अमेजॉन ने गूगल की पैरेंट कंपनी ऐल्फाबेट को पीछे छोड़ दिया है. अब अमेजॉन अमेरिका की दूसरी सबसे ज्यादा वैल्यू वाली कंपनी बन गई है. पहले नंबर पर अभी टेक दिग्गज ऐपल ही काबिज है और अमेजॉन के लिए ऐपल तक पहुंचना अभी दूर की कौड़ी है.

S&P ग्लोबल मार्केट इंटेलिजेंस की रिपोर्ट के मुताबिक मंगलवार को अमेजॉन का मार्केट कैप 768 बिलियन डॉलर का था, जबकि गूगल की पैरेंट कंपनी ऐल्फाबेट 762 बिलियन डॉलर के साथ दूसरे नंबर पर रही. गौरतलब है कि ऐपल 889 बिलियन डॉलर वैल्यू के साथ नंबर-1 पर है.  

दिलचस्प ये है कि पिछले महीने ही अमेजॉन ने मार्केट कैप के मामले में माइक्रोसॉफ्ट को भी पीछे छोड़ दिया था. इतना ही नहीं फिलहाल अमेजॉन स्टॉक की कीमतें बढ़ रही हैं जिससे कंपनी के सीईओ जेफ बेजोस की पर्सनल वेल्थ बढ़ी है और वो अभी दुनिया के सबसे अमीर शख्स हैं. माइक्रोसॉफ्ट के संस्थापक बिल गेट्स पहले पायदान से खिसक कर दूसरे नंबर पर आ गए हैं.

सीईओ जेफ बेजोस का नेट वर्थ 130 बिलियन डॉलर है जो उन्हें दुनिया का सबसे अमीर शख्स बनाता है. लगातार तीन गूगल के स्टॉक गिरने और अमेजॉन के स्टॉक की उछाल की वजह से ऐल्फाबेट नीचे खिसक गई.  

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक गूगल स्टॉक के गिरने की वजह फेसबुक डेटा स्कैंडल भी है. क्योंकि सर्च विज्ञापन बाजार में गूगल नंबर-1 है और इसके पास वीडियो प्लेटफॉर्म यूट्यूब भी है.

टॉप कंपनियों की भारतीय कमाई में भी उछाल दर्ज की गई है. वित्त वर्ष 2017 में अमेजॉन इंडिया के रेवेन्यू में 105 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है, जबकि ऐपल ने भारत से 1.8 बिलियन डॉलर का रेवेन्यू कमाया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें