scorecardresearch
 

Epos Adapt 560 Review: वर्क फ्रॉम होम के लिए बेहतर ऑप्शन

Epos Adapt 560 Review: भारत में Epos की एंट्री हो चुकी है. जिस सेग्मेंट में कंपनी ने हेडफोन्स उतारे हैं उसनें कंपनी को बोस और सोनी से टक्कर मिलेगी. रिव्यू में हम इन हेडफोन्स की खूबियां और कमियों के बारे में जानेंगे.

Epos Adapt 560 Epos Adapt 560
स्टोरी हाइलाइट्स
  • Epos Adapt 560 वर्क फ्रॉम होम के लिहाज से शानदार है.
  • Epos Adapt 560 में दिया गया माइक्रोफोन काफी पावरफुल है.

Epos Adapt 560 वायरलेस हेडफोन्स – भारतीय मार्केट के लिए नया है. Epos डेनमार्क की कंपनी है और कुछ महीने पहले ही इस कंपनी ने भारत में अपने प्रोडक्ट्स लॉन्च किए हैं. 

Epos का नाम अगर आपने नहीं सुना है तो कोई बात नहीं. Sennheiser का नाम तो सुना ही होगा. ऑडियो सेग्मेंट में सेनहाइजर के प्रोडक्ट्स पॉपुलर हैं और कंपनी प्रोफेशनल इयरफोन्स भी बनाती है. 

Epos डेनमार्क की कंपनी है और इसने इसकी पेरेंट कंपनी का नाम Demant है जो काफी पॉपुलर ऑडियो कंपनी है. Demant और Sennheiser के बीच एक ज्वाइंट वेंचर हुआ और इसके तहत एंटरप्राइज और गेमिंग सल्यूशन लॉन्च किया जाता है. 

Epos Adapt 550 इसी ज्वाइंट वेंचर के तहत लॉन्च किया गया है. इसी वजह से इस ओवर द इयर हेडफोन्स पर आपको Sennheiser की भी ब्रांडिंग मिलती है. Epos Adapt 560 को दरअसल वर्क फ्रॉम होम करने वाले लोगों के लिए खास तौर से डिजाइन किया गया है. 

डिजाइन और बिल्ड.. 
 
Epos 560 के डिजाइन और बिल्ड क्वॉलिटी की बात करें तो ये डिसेंट है. डिजाइन में कुछ ग्राउंड ब्रेकिंग नहीं है, नॉर्मल ऑवर द इयर हेडफोन जैसा डिजाइन मिल जाता है. देखने में ये प्रीमियम और कॉम्पैक्ट लगता है. 

बिल्ड क्वॉलिटी अच्छी है और इसमें अच्छी क्वॉलिटी की पैडिंग दी गई है. पहनने में आरामदेह है और इसका कुशन काफी कंफर्टेबल है. लंबे समय तक कानों में लगाए रहने से आपको कोई तकलीफ नहीं होगी. 

साइज ऐडजस्टेबल है जिसे आप आसानी से छोटा या बड़ा करके फिट कर सकते हैं. इसके साथ एक डेडिकेटेड माइक दिया गया है जिसे स्लाइड करके आगे ला सकते हैं और जरूरत न होने पर इसे स्लाइड करके अंदर की तरफ कर सकते हैं. माइक का साइज ज्यादा बड़ा नहीं है, इसलिए ये देखने में भी अच्छा लगता है. 

Epos 560 कंट्रोल बटन्स 

इस हेडफोन्स के राइट इयरकप में कंट्रोल बटन्स दिए गए हैं. एक पर्पल कलर का बटन दिखेगा जो माइक्रोसॉफ्ट टीम्स के लिए डेडिकेटेड है. अगर आप मीटिंग के लिए माइक्रोसॉफ्ट टीम्स यूज करते हैं तो ये आपके लिए काफी हैंडी और यूजफुल होगा. 

माइक्रोसॉफ्ट टीम्स के साथ अगर ये बटन जूम, स्काइप और गूगल मीट के लिए भी यूज किया जा सकता तो बेहतर होता. क्योंकि माइक्रोसॉफ्ट टीम्स मीटिंग के लिए भारत में कम ही लोग यूज करते हैं. ज्यादातर लोग आज कल जूम ही यूज कर रहे हैं. 

वॉल्यूम ऐडजस्ट करने के लिए भी बटन है जिसे ऊपर या नीचे करके वॉल्यूम कम या ज्यादा कर सकते हैं. मिडिल में एक बटन दिया गया है जिसे आप फोन आंसर करने या म्यूजिक प्ले या पॉज करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. 

आम तौर पर इस कीमत के हेडफोन्स में आपको टच कंट्रोल्स मिल जाते हैं, लेकिन इसमें फिजिकल बटन्स दिए गए हैं. ये डिबेट का मुद्दा है, क्योंकि कुछ लोगों को ये पसंद आता है. कई लोग टच कंट्रोल से बेहतर अभी भी बटन्स को मानते हैं, क्योंकि इससे सटीक कंट्रोल होता है. 

अच्छी बात ये है कि इसके साथ बॉक्स में आपको ब्लूटूथ डोंगल भी मिलता है जिससे आप डेस्क्टॉप से भी इसे कनेक्ट कर सकते है. दूसरी खासियत ये है कि इस हेडफोन्स को एक साथ अलग अलग डिवाइस से कनेक्ट कर सकते हैं. 

ऑडियो परफॉर्मेंस... 

Epos Adapt 560 जिस कीमत पर आता है उस लिहाज से मैने इससे और भी बेहतर क्वॉलिटी की उम्मीद की थी. ऐक्टिव नॉयज कैंसिलेशन भी उतना सटीक काम नहीं करता है जितना करना चाहिए. इसका मतलब ये नहीं है कि ऑडियो परफॉर्मेंस के मामले में ये खराब है. हम यहां बात उम्मीद की कर रहे थे. 

अगर आप ऑडियोफाइल नहीं हैं तो आप शायद नोटिस कर पाएं कि इसकी कमियां क्या हैं. लेकिन अगर ज्यादा बेस चाहते हैं तो ये आपके लिए नहीं है. गाना सुनने का एक्सपीरिएंस हमारा अच्छा रहा है, लेकिन इन सब से ऊपर कॉलिंग के लिहाज से ये जबरदस्त है. 

वीडियो कॉलिंग हो या नॉर्मल कॉल इस डिपार्टमेंट ये हेडफोन्स शानदार काम करते हैं. वॉयस क्लैरिटी भी अच्छी है और अगर रेडियो या पॉडकास्ट के लिए दूसरे तरफ का कॉलर आपकी वॉयस रेकॉर्ड कर रहा है तो इस हिसाब से भी ये शानदार है. 

अगर आप गेमिंग करते हैं तो इस लिहाज से भी ये अच्छा है. क्योंकि मल्टीप्लेयर गेमिंग में कम्यूनिकेशन अहम रोल प्ले करता है. इस दौरान भी हमें वॉयस क्लैरिटी अच्छी मिली और ऐक्टिव नॉयज कैंसिलेशन यहां अच्छा काम करता है. 

बैटरी लाइफ की बात करें तो इस डिपार्टमेंट में भी ये अच्छा है. फुल चार्ज करने में आपको लगभग 4 घंटे का समय लगेगा. लेकिन बैकअप लगभग 4 से 5 दिन तक का मिल जाएगा. अब ये डिपेंड करता है कि आप दिन भर में कितनी देर इसे यूज करते हैं और ऐक्टिव नॉयज कैंसिलेशन का यूज कितना है. 

आम तौर पर अगर दिन भर में आप 5-6 घंटे तक भी इसे यूज करेंगे तो ये आपको कम से कम दो दिन का बैकअप देगा. 

ओवरऑल Epos Adapt 560 का परफॉर्मेंस अच्छा है. लेकिन इसे और बेहतर किया जा सकता था. भारतीय मार्केट में इस तरह के हेडफोन्स के लिए इसकी कीमत कम नहीं है और कंपनी अगर आगे इस सेग्मेंट में नया हेडफोन्स लाती है तो निश्चित तौर पर उसे इंप्रूवमेंट के जरूरत होगी.

बॉटम लाइन 

अगर आप इसे ऑनलाइन मीटिंग्स या फिर गेमिंग के लिए खरीद रहे हैं तो ये आपके लिए शानदार रहेगा. आपको बेस पसंद है और ऑडियोफाइल हैं तो इस कीमत पर आपके पास और बेटर ऑप्शन्स उपलब्ध हैं. उदाहरण के तौर पर बोस और सोनी. 

इस सेग्मेंट के दूसरे हेडफोन्स में आपको इस लेवल का माइक सपोर्ट भी नहीं मिलेगा. हमें इसकी बैटरी बैकअप भी प्रभावी लगा है, इसलिए बैकअप के मामले में भी ये अच्छा है. कॉम्पैक्ट है, लाइट वेट है, कंट्रोल्स अच्छे हैं और प्रीमियम भी लगता है.

आज तक रेटिंग – 7.5/10 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें