scorecardresearch
 

7 गुना तक बढ़ेगा मोबाइल डेटा ट्रैफिक: रिपोर्ट

जैसे-जैसे विकास हो रहा है वैसे-वैसे टेक्नोलॉजी में तेजी आ रही है. तेजी से हो रहे विकास ने मोबाइल सस्ते कर दिए हैं कनेक्शन की स्पीड बढ़ गई है. हाल ही में आए रिपोर्ट का दावा है कि आने वाले दिनों में मोबाइल डेटा ट्रैफिक में 7 फीसदी तक बढ़ जाएगी.

बढ़ेगा मोबाइल डेटा ट्रैफिक बढ़ेगा मोबाइल डेटा ट्रैफिक

मोबाइल यूजर्स, स्मार्टफोन एवं इंटरनेट ऑफ थिंग्स (IOT) कनेक्शन्स में मजबूत विकास के साथ ही नेटवर्क स्पीड और मोबाइल वीडियो की खपत में सुधार से अगले पांच वर्षो में मोबाइल डेटा ट्रैफिक में सात गुना बढ़ोतरी होने का अनुमान है.

सिस्को ने अनुमान लगाया है कि 2021 तक मोबाइल डेटा ट्रैफिक कुल आइपी ट्रैफिक का 20 प्रतिशत प्रतिनिधित्व करेगा. मोबाइल नेटवर्क कनेक्शन की स्पीड में तीन गुना की वृद्धि होगी और यह 2016 के 6.8 MBPS से बढ़कर 2021 में 20.4 MBPS पहुंच जाएगी. 4जी 2021 तक कुल मोबाइल कनेक्शन्स का 58 फीसदी होगा तथा यह कुल मोबाइल डेटा ट्रैफिक का 79 प्रतिशत योगदान करेंगे.

सैमसंग इस महीने ला सकता है रुमाल की तरह मुड़ने वाला स्मार्टफोन

सिस्को ने भविष्यवाणी की है कि 5G 2021 तक कुल मोबाइल डेटा ट्रैफिक का 1.5 फीसदी योगदान करेगा और इसके द्वारा औसत 4G कनेक्शन की तुलना में 4.7 गुना और औसत 3G कनेक्शन की तुलना में 10.7 गुना अधिक ट्रैफिक जेनेरेट होगा.

सिस्को के सर्विस प्रोवाइडर (मार्केटिंग) के उपाध्यक्ष डॉग वेब्स्टर ने कहा, 'आइओटी, लाइव मोबाइल वीडियो, ऑगमेंटेड और वर्चुअल रियलिटी ऐप्लीकेशन्स में प्रसार के साथ ग्राहकों एवं बिजनेस यूजर्स के लिए 5G टेक्नोलॉजी जैसे अधिक खोजपरक अनुभव की प्रासंगिकता महत्वपूर्ण होगी. यह सिर्फ मोबिलिटी के लिए ही नहीं बल्कि समग्र रूप से नेटवर्किंग के लिए भी महत्वपूर्ण होंगे.'

ये टॉप 5 कूल गैजेट्स हो सकते हैं बेस्ट वैलेंटाइन डे गिफ्ट

सिस्को इंडिया एवं सार्क के मैनेजिंग डायरेक्टर (सर्विस प्रोवाइडर बिजनेस) संजय कौल ने कहा, 'भारत जिस तरह डिजिटल अर्थव्यवस्था का रुख कर रहा है, अकेले 2016 में मोबाइल ट्रैफिक में भारी विकास दर्ज किया गया. पिछले वर्ष से 76 प्रतिशत विकास हुआ है और 2021 तक कंज्यूमर मोबाइल ट्रैफिक में 49 प्रतिशत की सालाना सीएजीआर दर से 7.4 गुना की बढ़ोतरी देखने को मिलेगी.'

रिपोर्ट में बताया गया कि भारत में मोबाइल डेटा ट्रैफिक में 2016 में इंडियन फिक्स्ड आइपी ट्रैफिक की तुलना में 2.2 गुना का विकास देखा गया है. भारत में मोबाइल डेटा ट्रैफिक में 2016 से 2021 के बीच 7 गुना की वृद्धि होगी. मोबाइल डेटा ट्रैफिक 2016 से 2021 तक फिक्स्ड आइपी ट्रैफिक की तुलना में 2 गुना ज्यादा बढ़ेगा. कंज्यूमर मोबाइल डेटा ट्रैफिक में 2016 की तुलना में 2021 तक 7.4 गुना की वृद्धि होगी. उपभोक्ता 2021 तक भारत के कुल मोबाइल डेटा ट्रैफिक का 90 प्रतिशत योगदान करेंगे, 2016 के अंत में यह आंकड़ा 89 प्रतिशत था. वीडियो कैपेबल डिवाइसेस एवं कनेक्शन्स की संख्या 2016 से 2021 के बीच 2.2 गुना बढ़ेगी, और यह 81.4 करोड़ पहुंच जाएगी. 2016 में मोबाइल नेटवर्क में 5.96 करोड़ नए डिवाइसेस एवं कनेक्शन्स जोड़े गए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें