scorecardresearch
 

Tokyo Olympics: टोक्यो में मेरीकॉम के पंच से आएगा गोल्ड मेडल?

अपना दूसरा ओलंपिक खेलने जा रहीं एमसी मेरीकॉम को टोक्यो में भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है. दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बॉक्सरों में शुमार मेरीकॉम टोक्यो में फ्लाइवेट कैटेगरी में भाग ले रही हैं.

Mary Kom Mary Kom

एमसी मेरीकॉम 
उम्र - 38 
खेल- बॉक्सिंग (फ्लाइवेट) 

अपना दूसरा ओलंपिक खेलने जा रहीं एमसी मेरीकॉम को टोक्यो में भारतीय दल का ध्वजवाहक चुना गया है. दुनिया की सर्वश्रेष्ठ बॉक्सरों में शुमार मेरीकॉम टोक्यो में 51 किलो फ्लाइवेट कैटेगरी में भाग ले रही हैं. पूरा देश टोक्यो ओलंपिक में इस मुक्केबाज से पदक की उम्मीद कर रहा है. खुद मेरीकॉम भी टोक्यो ओलंपिक में गोल्ड मेडल जीतकर अपने करियर का समापन करना चाहती हैं. 

मणिपुर की रहने वाली मेरीकॉम ओलंपिक मेडल जीतने वाली इकलौती भारतीय महिला मुक्केबाज हैं. मेरीकॉम ने लंदन ओलंपिक 2012 के 51 किलोग्राम फ्लाइवेट वर्ग में कांस्य पदक जीता था. मेरीकॉम के नाम विश्व चैम्पियनशिप में सर्वाधिक मेडल (6 गोल्ड+एक सिल्वर+एक ब्रॉन्ज) जीतने का रिकॉर्ड है. वह इस मामले में पुरुष मुक्केबाज क्यूबा के फेलिक्स सेवॉन को पीछे छोड़ चुकी हैं, जिनके नाम विश्व चैम्पियनशिप में 7 पदक थे.

टोक्यो का सफर: एमसी मेरीकॉम ने मार्च 2020 में आयोजित एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वालिफायर के सेमीफाइनल में पहुंचकर टोक्यो के लिए क्वालिफाई किया था. दूसरी वरीय मेरीकॉम ने क्वार्टर फाइनल में फिलीपींस की आयरिश मैग्नो को 5-0 से हराकर यह उपलब्धि हासिल की. हालांकि इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मेरीकॉम चीनी मुक्केबाज युआन चांग से हार गई थीं, जिसके चलते उन्हें कांस्य पदक से ही संतोष करना पड़ा.

हालिया प्रदर्शन: मेरीकॉम ने मार्च 2021 में स्पेन के कैस्टेलियन में 'बॉक्सम' इंटरनेशनल टूर्नामेंट में भाग लिया था. इस टूर्नामेंट के सेमीफाइनल में मेरीकॉम अमेरिका की वर्जीनिया फुक्स से हार गई थीं, जिसके चलते उन्हें कांस्य पदक से संतोष करना पड़ा. इसके बाद मेरीकॉम ने दुबई में आयोजित हुए एशियाई बॉक्सिंग चैम्पियनशिप 2021 में भी भारत का प्रतिनिधित्व किया. जहां फाइनल में कजाकिस्तान की नाजिम किजाइबे से हारने के बाद उन्हें रजत पदक मिला.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें