scorecardresearch
 

Wimbledon Final: जोकोविच ने छठी बार जीता विम्बलडन खिताब, इटली के मैटियो बेरेटिनी को दी शिकस्त

फाइनल मुकाबले की बात करें तो दोनों जोकोविच और मैटियो बेरेटिनी ने एक दूसरे को कड़ी टक्कर दी. ऐसा एक बार भी नहीं हुआ जब मैच एकतरफा दिखाई पड़ा हो. फाइनल का रोमांच लगातार बना रहा और लीड लेने का सिलसिला भी बदलता रहा.

Novak Djokovic (Getty) Novak Djokovic (Getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • जोकोविच ने छठी बार जीता विम्बलडन
  • इटली के मैटियो बेरेटिनी को दी शिकस्त
  • तगड़ा मुकाबला, कई बार उलटफेर

कोरोना काल में विम्बलडन 2021 ने सभी का जबरदस्त मनोरंजन किया है. खिलाड़ियों के शानदार प्रदर्शन ने इस बेहतरीन खेल को लाजवाब बना दिया है. अब दुनिया को सर्बियाई स्टार नोवाक जोकोविच के रूप में विम्बलडन 2021 का नया विजेता मिल गया है. जोकोविच ने बेहतरीन खेल दिखाते हुए इटली के मैटियो बेरेटिनी को शिकस्त दी.

नोवाक जोकोविच ने जीता विम्बलडन

अब जोकोविच कुल 6 बार विम्बलडन खिताब अपने नाम कर चुके हैं, वहीं उन्होंने 20वां ग्रैंड स्लैम भी अपने नाम कर लिया. अब जोकोविच ने इस मामले में रोजर फेडरर  और राफेल नडाल की बराबरी कर ली है. पिछले कुछ सालों में 34 वर्षीय जोकोविच ने सभी को अपने खेल से खासा प्रभावित किया है. उनके शानदार आंकड़े भी इस सफलता की तस्दीक करते हैं.

तगड़ा मुकाबला, कई बार उलटफेर

फाइनल मुकाबले की बात करें तो दोनों जोकोविच और मैटियो बेरेटिनी ने एक दूसरे को कड़ी टक्कर दी. ऐसा एक बार भी नहीं हुआ जब मैच एकतरफा दिखाई पड़ा हो. फाइनल का रोमांच लगातार बना रहा और लीड लेने का सिलसिला भी बदलता रहा. मैच के दौरान कई बार ऐसे मोड़ आए जब मैटियो बेरेटिनी ने बाजी पलटने का प्रयास किया और वे उसमें सफल भी रहे. पहले सेट में तो उन्होंने जबरदस्त वापसी करते हुए जोकोविच को भी चौंका दिया था. लेकिन इसके बाद जेकोविच ने फिर वापसी की और हर सेट के साथ अपनी लीड बढ़ाते गए. मैच खत्म होते-होते स्कोर कार्ड कुछ ऐसा दिखा-  6-7 (4/7), 6-4, 6-4, 6-3. ये बताने के लिए काफी है कि जोकोविच ने हर बार गेम में वापसी की और अपने अनुभव का पूरा फायदा उठाया.

इटली के लिए खास मौका

वैसे इटली के लिए विम्बलडन फाइनल तक पहुंचना भी बड़ी कामयाबी रही. बेरेटिनी विंबलडन फाइनल में पहुंचने वाले इटली के पहले खिलाड़ी बन गए थे. यह पिछले 45 वर्षों में पहला अवसर था, जब इटली का कोई खिलाड़ी ग्रैंडस्लैम टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंचा. ऐसे में उन्होंने भी शानदार खेल दिखाया लेकिन अनुभवी जोकोविच के सामने थोड़े फीके साबित हुए.

वहीं जोकेविच ने फिर अपने देश का नाम रोशन कर दिया है. उन्होंने छठी बार विम्बलडन का खिताब अपने नाम कर लिया है. फिनाले तक पहुंचने के लिए उन्होंने कई चुनौतियों को पार किया था. उन्होंने कनाडा के डेनिस शापोवालोव को सीधे सेटों में 7-6 7-5 7-5 से मात दी थी. ऐसे में फाइनल से पहले उनके साथ एक शानदार फॉर्म थी जिसका उन्होंने अंतिम पड़ाव पर पूरा फायदा उठाया और ये खिताब अपने नाम किया. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें