scorecardresearch
 

वर्ल्ड वेटलिफ्टिंग: मीराबाई चानू ने USA में जीता स्वर्ण पदक

मीराबाई चानू के बचपन में उनके गांव में कोई वेटलिफ्टिंग सेंटर नहीं था. लेकिन अपने मेहनत के दम पर उन्होंने भारत के लिए गोल्ड हासिल कर दिखाया.

चानू चानू

मीराबाई चानू विश्व भारोत्तोलन चैंपियनशिप में पिछले दो दशक से अधिक समय में स्वर्ण पदक जीतने वाली पहली भारतीय हो गईं. चानू ने एनाहिम (अमेरिका) में यह कारनामा कर रियो ओलंपिक के खराब प्रदर्शन की टीस मिटाई.

भारतीय रेलवे में कार्यरत चानू ने स्नैच में 85 किलो और क्लीन एंड जर्क में 109 किलो वजन उठाया. उन्होंने 48 किलो वर्ग में कुल 194 किलो वजन उठाकर नया राष्ट्रीय रिकॉर्ड बनाया.

पोडियम पर खड़े होकर तिरंगा देखकर उनके आंसू निकल आए. उनसे पहले ओलंपिक कांस्य पदक विजेता कर्णम मल्लेश्वरी ने 1994 और 1995 में विश्व चैंपियनशिप में पीला तमगा जीता था.

चानू रियो ओलंपिक में तीनों प्रयासों में नाकाम रही थीं और 12 भारोत्तोलकों में वह स्पर्धा पूरी नहीं कर पाने वाली दो में से एक थीं. थाईलैंड की सुकचारोन तुनिया ने रजत और सेगुरा अना इरिस ने कांस्य पदक जीता.

डोपिंग से जुड़े मसलों के कारण रूस, चीन, कजाखस्तान, उक्रेन और अजरबैजान जैसे भारोत्तोलन के शीर्ष देश इसमें भाग नहीं ले रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें