scorecardresearch
 

रियो में कौन होगा जोड़ीदार, अभी फैसला करना सही नहीं: सानिया मिर्जा

रियो ओलंपिक 2016 में मिश्रित युगल में सानिया मिर्जा का जोड़ीदार कौन होगा इस पर अभी फैसला करना जल्दबाजी होगी. यह कहना है खुद सानिया मिर्जा का जिन्होंने इसके साथ यह भी कहा कि इस खेल महाकुंभ में सर्वश्रेष्ठ संभावित टीम उतारी जानी चाहिए.

सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस सानिया मिर्जा और मार्टिना हिंगिस

रियो ओलंपिक 2016 में मिश्रित युगल में सानिया मिर्जा का जोड़ीदार कौन होगा इस पर अभी फैसला करना जल्दबाजी होगी. यह कहना है खुद सानिया मिर्जा का जिन्होंने इसके साथ यह भी कहा कि इस खेल महाकुंभ में सर्वश्रेष्ठ संभावित टीम उतारी जानी चाहिए.

सानिया मिर्जा ने कहा, ‘कौन जानता है कि तब कौन फिट रहेगा और कौन फिट नहीं रहेगा. सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि सर्वश्रेष्ठ टीम उतारी जानी चाहिए. अभी मुझे नहीं लगता कि यह इस पर फैसला करने का सही समय है.’

लंदन ओलंपिक 2012 से पहले भारतीय युगल टीम के चयन को लेकर विवाद पैदा हो गया था. रियो खेलों के लिए अपनी तैयारियों के बारे सानिया ने कहा कि वह अभी इन खेलों से पहले होने वाले टूर्नामेंट पर ध्यान दे रही है. उन्होंने कहा, ‘मैंने अभी रविवार को फाइनल खेला था और इसलिए मैं केवल उन खेलों को लेकर ही तैयारी नहीं कर रही हूं क्योंकि मैं लगातार छह सप्ताह से खेल रही हूं. पिछले तीन दिनों में मैं तीन अलग अलग देशों में रही और अब फिर दुबई के जा रही हूं फिर मंगलवार को हम दोहा में खेलेंगे इसलिए मेरे पास अभी कुछ दिन हैं.’

‘विंबलडन में भी देश के लिए ही खेलती हूं’
सानिया ने कहा कि चाहे ओलंपिक हो या विंबलडन वह हमेशा देश के लिए खेलती है. उन्होंने कहा, ‘मैं हमेशा देश के लिए खेलती हूं. लोग गलत सोचते हैं कि हम देश के लिए नहीं खेलते क्योंकि हम टीम के रूप में नहीं खेलते हैं. हम हमेशा भारत का प्रतिनिधित्व करते हैं और यह मायने नहीं रखता कि वह विंबलडन है या ओलंपिक. ओलंपिक में कुछ ज्यादा देशप्रेम जुड़ा होता है क्योंकि हर कोई भारतीय ध्वज तले खेलता है.’

सानिया ने कहा कि अन्य खेलों की तरह टेनिस खिलाड़ी चार महीने बाद होने वाले टूर्नामेंट पर अभी से ध्यान नहीं दे सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘हमें इतनी सहूलियत हासिल नहीं है जैसे कि अन्य खेलों में है कि चार महीने बाद होने वाली प्रतियोगिता पर ध्यान केंद्रित किया जा सके. लेकिन जब वहां जाएंगे तो पदक जीतने के लिए अपनी तरफ से पूरा प्रयास करेंगे. लेकिन अभी यह हमारी प्राथमिकता नहीं है.’

‘मार्टिना हिंगिस मेरी सबसे करीबी’
मार्टिना हिंगिस के साथ युगल में शानदार सफलता के पीछे के राज के बारे में सानिया ने कहा कि वे दबाव में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करती हैं. उन्होंने कहा, ‘अमूमन युगल में एक खिलाड़ी बेहतर खेलता है और दूसरा नहीं. हमारे मामले में मुझे लगता है कि हम दोनों ही दबाव में बहुत अच्छा प्रदर्शन करती है और इसलिए हमें हराना मुश्किल हो जाता है. यह हमारी सबसे बड़ी ताकत है.’

सानिया ने हालांकि कहा कि उन दोनों की अभी कुछ कमजोरियां हैं और वे उन पर काम कर रही है. उन्होंने कहा कि वह और हिंगिस काफी समय साथ में बिताती है. उन्होंने कहा, ‘आज संभवत: वह मेरी सबसे करीबी है. वह मुझे अच्छी तरह से समझती है और जानती है कि परिस्थितियों के हिसाब से मेरी प्रतिक्रिया कैसी रहती है. ऐसा उसके प्रति मेरे मामले में भी है. इसलिए मुझे खुशी है कि मैं उसे इतनी अच्छी तरह से जानती हूं.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें