scorecardresearch
 

कुश्ती 'बचाने' की मुहिम से जुड़े सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त

कुश्ती को ओलंपिक में लौटाने के लिये सहयोग जुटाने की कवायद में भारत के स्टार पहलवान सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त ने गुरुवार को एक मुहिम की शुरुआत की. अगले सप्ताह एक हस्ताक्षर अभियान हरियाणा और पंजाब के विभिन्न शहरों में चलाया जायेगा.

सुशील कुमार सुशील कुमार

कुश्ती को ओलंपिक में लौटाने के लिये सहयोग जुटाने की कवायद में भारत के स्टार पहलवान सुशील कुमार और योगेश्वर दत्त ने गुरुवार को एक मुहिम की शुरुआत की. अगले सप्ताह एक हस्ताक्षर अभियान हरियाणा और पंजाब के विभिन्न शहरों में चलाया जायेगा.

एक शीतल पेय ब्रांड द्वारा शुरू की गई इस मुहिम के लॉन्च के मौके पर सुशील ने कहा, ‘हम कुश्ती के सभी समर्थकों से आगे आकर इस अभियान में शामिल होने की अपील करते हैं. कुश्ती को 2020 ओलंपिक से बाहर करने से कई पहलवानों के सपने टूट जायेंगे.’

यह पूछने पर कि क्या वह विरोधस्वरूप अपना ओलंपिक पदक लौटाने की सोच रहे हैं, सुशील ने कहा कि आईओसी के फैसले का विरोध करने के बेहतर तरीके हैं. उन्होंने कहा, ‘मुझे लगता है कि विरोध के कई बेहतर तरीके हैं. एक पदक काफी मेहनत के बाद हासिल होता है. मुझे वैसे भी पूरा यकीन है कि इस खेल को फिर ओलंपिक में शामिल किया जायेगा.’

इस बीच योगेश्वर ने कहा कि यदि पदक लौटाने से उन्हें ओलंपिक में कुश्ती के फिर शामिल होने की गारंटी मिलती है तो वह सहर्ष यह करने को तैयार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें