scorecardresearch
 

सचिन को पाकिस्तान में भी मिली भावपूर्ण विदाई

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को जितनी भावभीनी विदाई भारत में मिली कुछ वैसी ही विदाई पाकिस्तान में लोगों ने दी. वहां के क्रिकेटरों और आम लोगों ने उन्हें भरे दिल से विदाई दी जैसे कि वे पाकिस्तानी खिलाड़ी हों.

सचिन तेंदुलकर सचिन तेंदुलकर

मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर को जितनी भावभीनी विदाई भारत में मिली कुछ वैसी ही विदाई पाकिस्तान में लोगों ने दी. वहां के क्रिकेटरों और आम लोगों ने उन्हें भरे दिल से विदाई दी जैसे कि वे पाकिस्तानी खिलाड़ी हों.

पाकिस्तानी अखबार द न्यूज ने लिखा है कि पाकिस्तान में सचिन के प्रति लगाव देखकर सभी को हैरानी हुई. वहां न केवल सड़कों पर बल्कि सोशल मीडिया में भी सचिन छाये रहे. फेसबुक पर उनके लिए बहुत बढ़िया कमेंट्स लिखे गए हैं. दुनिया भर में रह रहे पाकिस्तानियों ने उनकी प्रंशसा में अपना दिल खोलकर रख दिया.

कराची के उद्यमी तारिक़ ज़मील खान ने लिखा कि सचिन क्रिकेट के भगवान कहलाने लायक हैं. उन्होंने मेरे ही शहर कराची से अपने टेस्ट करियर की शुरूआत की थी. अपने देश पाकिस्तान पर गर्व करने वाले जावेद इक़बाल ने लिखा है कि हम वैसा महान खिलाड़ी 1000 वर्षों तक नहीं देख पाएंगे. उन्होंने पाकिस्तान के कई अखबारों में सचिन के लिए अपनी भावनाएं व्यक्त करते हुए लिखा. इस्लामाबाद की शिक्षाशास्त्री शिरीन कोको उमर अपनी भावनाओं को रोक नहीं पाईं और उन्होंने अपने फेस बुक वॉल पर सचिन की खूब तारीफ की. इस्लामाबाद की ही एक स्तंभकार नौरीन हैदर ने लिखाः आई लव सचिन, वह सबसे महान खिलाड़ी हैं. कराची के एक सॉफ्टवेयर प्रोफेशनल एआ सैयद ने लिखा कि एक युग की समाप्ति हो गई! शुक्रिया सचिन! अब कभी तुम्हारे जैसा खिलाड़ी नहीं होगा...तुम्हारा जबर्दस्त प्रशंसक! कराची के मुहम्मद एस्सा ने सचिन को इतिहास का सबसे महान खिलाड़ी बताया जबकि लाहौर की सोशल वर्कर सईदा फारूख ने उन्हें लेजेंड कहा. हैदराबाद, सिंध के बिज़नेस मैन आरिफ पाशा ने लिखाः स्टे ब्लेस्ड सचिन! ट्रक आर्टिस्ट हैदर अली ने लिखाः रब ने सचिन जैसा प्लेयर नहीं बनाया. दुबई में रह रहे पाकिस्तानियों ने भी सचिन के बारे में अपनी भावनाएं व्यक्त की हैं. उन्होंने भी सचिन की खूब तारीफ की.

पाकिस्तानी अखबारों में संपादकीय
पाकिस्तान के अंग्रेजी अखबारों ने सचिन की विदाई पर दुख व्यक्त करते हुए संपादकीय लिखे. द न्यूज ने अपने संपादकीय अ बिलियन रीजंस में लिखा कि खिलाड़ी आते-जाते रहेंगे लेकिन सचिन बने रहेंगे. वह एक अरब से ज्यादा लोगों के दिल और दिमाग में बने रहेंगे. डॉन अखबार ने अपने संपादकीय अनबीटेबल तेंदुलकर में लिखा कि उनके 100 इंटरेशनल शतक और 15,000 से ज्यादा रन एक ऐसे रिकॉर्ड हैं जिन्हें कोई नहीं तोड़ सकता...इतनी उपलब्धियों के बाद भी उन्हें गर्व नहीं हुआ और वे हमेशा विवादों से दूर रहे.

द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने सचिन की तारीफ करते हुए लिखा कि वाकई वे अपने समय के सबसे सिद्धहस्‍त बल्लेबाज रहे..किसी और प्लेयर ने लोगों का ध्यान अपनी ओर इस तरह से नहीं खींचा...उनके पास हर तरह के शॉट थे.

पाकिस्तान के उर्दू अखबारों ने जो अमूमन भारतीयों की तारीफ से बचते हैं, सचिन की खूब तारीफ की. दुनिया, जंग वगैरह ने सचिन के बारे में अपनी भावनाएं व्यक्त की. सबसे बड़ी बात तो यह रही कि हर बड़े पाकिस्तानी खिलाड़ी ने सचिन के बारे में प्रशंसात्मक बातें कहीं. पाकिस्तान के पूर्व कप्तान इंजमाम उल हक़ ने तो सचिन की तारीफ के पुल बांध दिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें