scorecardresearch
 

समय की कमी से अभी नहीं बन सकता हूं कोच, लेकिन भविष्य का किसे पताः राहुल द्रविड़

टीम इंडिया का प्रदर्शन लगातार गिरता ही जा रहा है और कोच डंकन फ्लेचर पर भी उंगलियां उठने लगी हैं. ऐसे में पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने मांग कर डाली कि फ्लेचर को हटाकर द्रविड़ को कोच बना देना चाहिए. हालांकि खुद द्रविड़ इस जिम्मेदारी को लेने के लिए तैयार नहीं हैं.

राहुल द्रविड़ राहुल द्रविड़

टीम इंडिया का प्रदर्शन लगातार गिरता ही जा रहा है और कोच डंकन फ्लेचर पर भी उंगलियां उठने लगी हैं. ऐसे में पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने मांग कर डाली कि फ्लेचर को हटाकर द्रविड़ को कोच बना देना चाहिए. हालांकि खुद द्रविड़ इस जिम्मेदारी को लेने के लिए तैयार नहीं हैं.

द्रविड़ ने कहा, 'मुझे खुशी है कि उन्होंने (गावस्कर) कहा कि मैं इस पद के लायक हूं. लेकिन इस काम के लिए साल में लगभग 11 महीने देने पड़ेंगे. मैंने अभी कुछ समय पहले ही संन्यास लिया है और अभी समय की कमी के कारण मैं इसे स्वीकार नहीं कर पाऊंगा.'

गावस्कर ने हाल में कहा था, 'किसी युवा व्यक्ति को टीम इंडिया का कोच बनना चाहिए. राहुल द्रविड़ ऐसा व्यक्ति है जो बहुत सम्मानित और सफल कप्तान रहा है. जब वह कहता है तो भारतीय खिलाड़ी उनकी सुनते हैं.'

द्रविड़ ने हालांकि भविष्य में कोच पद संभालने की संभावना को पूरी तरह खारिज नहीं किया. उन्होंने कहा, 'मैं इस साल आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के लिए अलग तरह (मेंटर) की भूमिका निभाऊंगा. कौन जानता है कि भविष्य में क्या होगा.' द्रविड़ को उम्मीद है कि क्रिकेट बोर्ड वर्तमान सहयोगी स्टाफ को अगले साल होने वाले वर्ल्ड कप तक बनाये रखेगा.

उन्होंने कहा, 'वर्ल्ड कप में एक साल से भी कम समय रह गया है तो मुझे नहीं लगता कि सहयोगी स्टाफ में किसी तरह का बदलाव होगा. उन्हें बदलाव लाने के लिए चार साल का समय दिया जाना चाहिए. वर्ल्ड कप से बदलाव का कोई मतलब नहीं बनता.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें