scorecardresearch
 

IPL: दिल्ली से हार के बाद धोनी ने बताया जडेजा से क्यों करवाना पड़ा आखिरी ओवर

आईपीएल के 13वें सीजन के 34वें मुकाबले में शिखर धवन की 58 गेंदों में नाबाद 101 रनों की पारी के दम पर दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 5 विकेट से हराया.

DC vs CSK (PTI) DC vs CSK (PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ब्रावो चोटिल होने के कारण मैदान से बाहर चले गए थे
  • धोनी बोले- हमने कई बार धवन का कैच टपका दिया
  • 'पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के 10 रन कम बने'

आईपीएल के 13वें सीजन के 34वें मुकाबले में शिखर धवन की 58 गेंदों में नाबाद 101 रनों की पारी के दम पर दिल्ली कैपिटल्स (DC) ने चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) को 5 विकेट से हराया. चेन्नई के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मैच के बाद कहा कि ड्वेन ब्रावो चोटिल होने के कारण मैदान से बाहर चले गए थे, जिसकी वजह से आखिरी ओवर में रवींद्र जडेजा से गेंदबाजी करवानी पड़ी.

धोनी ने कहा, ‘ब्रावो फिट नहीं थे, वह मैदान से बाहर गए और फिर वापस नहीं आए. मेरे पास जडेजा या फिर कर्ण शर्मा से गेंदबाजी कराने का विकल्प था. मैंने जडेजा को चुना.’ धोनी ने कहा, ‘शिखर का विकेट काफी अहम था, लेकिन हमने कई बार उनका कैच टपका दिया. उन्होंने बल्लेबाजी करना जारी रखा और इस दौरान उनका स्ट्राइक रेट भी अच्छा था. दूसरी पारी में विकेट भी थोड़ा आसान था. हम लेकिन धवन से श्रेय वापस नहीं ले सकते है,’ 

आखिरी ओवर में दिल्ली को जीत के लिए 17 रन चाहिए थे. पहली गेंद वाइड रही, इसके बाद स्ट्राइक मिलने पर अक्षर पटेल ने जडेजा की दूसरी और तीसरी गेंद पर लगातार दो छक्के जमाने के बाद चौथी गेंद पर दो रन लिये और एक गेंद शेष रहते एक और छक्के से दिल्ली को जीत दिला दी.   

धोनी ने कहा कि पिच के आसान होने के कारण स्थिति उनके लिए मुश्किल हो गई. उन्होंने कहा, ‘पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के 10 रन कम बने, जबकि बाद में बल्लेबाजी करने वाली टीम ने 10 रन अधिक बनाए.’ 

शिखर धवन को 3 'जीवनदान'  

धवन ने तीन जीवनदान का फायदा उठाते हुए शतक जड दिया. उन्हें पहला जीवनदान सातवें ओवर में जडेजा की गेंद पर मिला, जब दीपक चाहर ने कैच टपका दिया. इसके बाद 10वें ओवर में जब वह 50 रन पर बल्लेबाजी कर रहे थे तब ब्रावो की गेंद पर धोनी ने उनका मुश्किल कैच छोड़ दिया. उन्हें तीसरा जीवनदान अंबति रायडू ने 16वें ओवर में शार्दुल ठाकुर की गेंद पर कैच छोड़कर दिया. इस समय वह 80 रन पर खेल रहे थे.

मैन ऑफ द मैच धवन ने कहा कि आईपीएल के 13 साल के इतिहास में पहली बार शतक लगाना शानदार रहा. उन्होंने कहा, ‘यह बेहद खास है कि 13 साल से आईपीएल खेल रहा हूं और यह मेरी पहली शतकीय पारी है. मैं काफी खुश हूं. सत्र की शुरुआत से मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं, लेकिन 20 रन के स्कोर को 50 रन में नहीं बदल पा रहा था.’ 

देखें: आजतक LIVE TV

उन्होंने कहा, ’मैं मानसिक तौर पर सकारात्मक था, और रन बनाने की कोशिश कर रहा था. मैं अब पहले से ज्यादा फिट हूं. मैं तेज दौड़ रहा हूं और तारोताजा महसूस कर रहा हूं.’ दिल्ली के कप्तान श्रेयस अय्यर ने कहा कि उन्हें पता था कि अगर धवन आखिर तक क्रीज पर रहे तो टीम जीत दर्ज करेगी. 

उन्होंने कहा, ‘मैं ड्रेसिंग रूम में बैठा था और नर्वस था. मुझे पता था कि अगर धवन आखिर तक क्रीज पर रहेंगे तो हम जीतेंगे.’ उन्होंने आखिरी ओवर में तीन छक्के लगाने वाले अक्षर पटेल की तारीफ की.

अय्यर ने कहा, ‘अक्षर ने जिस तरह से मैदान पर उतरने के बाद तीन छक्के लगाए वह शानदार था. हम जब ड्रेसिंग रूम मैन ऑफ द मैच देंगे तो यह खिताब उन्हें ही मिलेगा.’ अक्षर ने पांच गेंद में तीन छक्को की मदद से नाबाद 21 रन बनाने के अलावा किफायती गेंदबाजी भी की थी. उन्होंने चार ओवर में सिर्फ 23 रन दिए. 
 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें