scorecardresearch
 

ICC वर्ल्डकप: पहले ही दिन अंपायरिंग की गलती पर विवाद

वर्ल्डकप 2015 का आगाज हो गया है और पहले ही दिन अंपायरिंग की गलती के कारण एक विवाद भी खड़ा हो गया है. मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने बड़ी आसानी से इंग्लैंड को 111 रन से हरा दिया. लेकिन विवाद हुआ इंग्लैंड के अंतिम बल्लेबाज के तौर पर आउट होने वाले जेम्स एंडरसन के रन आउट को लेकर.

ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मैच का एक सीन ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच मैच का एक सीन

वर्ल्डकप 2015 का आगाज हो गया है और पहले ही दिन अंपायरिंग की गलती के कारण एक विवाद भी खड़ा हो गया है. मेजबान ऑस्ट्रेलिया ने बड़ी आसानी से इंग्लैंड को 111 रन से हरा दिया. लेकिन विवाद हुआ इंग्लैंड के अंतिम बल्लेबाज के तौर पर आउट होने वाले जेम्स एंडरसन के रन आउट को लेकर. आईसीसी ने इसके लिए अंपायरिंग की गलती भी मान ली है. लेकिन इस फैसले के कारण इंग्लिश बल्लेबाज जेम्स टेलर अपनी पहली वनडे सेंचुरी से चूक गए.

आईसीसी ने कहा है कि इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया के हाथों 111 रन से हार गई. लेकिन जिस गेंद पर जेम्स एंडरसन को आउट दिया गया, उस गेंद का ICC की प्लेइंग कंट्रोल टीम ने अच्छे से निरीक्षण किया और पाया कि एंडरसन को आउट दिया जाना एक गलती थी.

दरअसल डिसीजन रिव्यू सिस्टम के नियम 6 (3.6A) के मुताबिक जैसे ही उस आखिरी गेंद पर जेम्स टेलर को एलबीडब्ल्यू आउट दिया गया, तुरंत गेंद डेड हो गई. हालांकि बाद में जेम्स एंडरसन ने अंपायर के निर्णय को चुनौती दी और उन्हें आउट नहीं पाया गया. लेकिन इस बीच ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल ने जेम्स एंडरसन को रन आउट कर दिया, जबकि नियम के अनुसार गेंद डेड होने के बाद उन्हें रन आउट नहीं किया जा सकता था.

ICC की प्लेइंग कंट्रोल टीम ने इंग्लैंड टीम मैनेजमेंट को इस बात की जानकारी दे दी है कि मैच का अंत सही तरीके से नहीं हुआ था और आईसीसी ने इसके लिए गलती मान ली है. दरअसल गेंदबाजी छोर पर अंपायर अलीम डार ने टेलर को जोश हेजलवुड की गेंद पर हुई अपील पर एलबीडब्ल्यू आउट दे दिया था.

टेलर ने इस निर्णय पर रिव्यू मांगा तो वे नॉट आउट करार दिए गए. लेकिन इस दौरान इंग्लैंड के बल्लेबाजों ने एक रन चुराने की कोशिश की और इस बीच मैक्सवेल ने एंडरसन के क्रीज में पहुंचने से पहले ही गिल्ल‍ियां बिखेर दीं. कई बार रीप्ले देखने के बाद लेग अंपायर कुमार धर्मसेना ने एंडरसन को आउट करार दिया.

इस मैच में मैन ऑफ द मैच रहे ऑस्ट्रेलियाई शतकवीर एरॉन फिंच ने माना कि किसी भी खिलाड़ी को प्लेइंग कंडीशन के बारे में सही-सही जानकारी नहीं थी. उन्होंने कहा, 'हमें तो समझ में ही नहीं आ रहा था कि आखिर हो क्या रहा है.' उन्होंने कहा, 'हमने एलबीडब्ल्यू के लिए अपील की और रन आउट के लिए भी अपील की. क्योंकि हम हर हाल में जीतना चाहते थे.'

फिंच ने कहा, 'सच तो ये है कि मुझे इस तरह के नियम के बारे में कोई जानकारी नहीं है. हो सकता है वो गेंद डेड बॉल हो, लेकिन मैंने ऐसा कोई नियम नहीं देखा है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें