scorecardresearch
 

EXCLUSIVE: जडेजा-एंडरसन विवाद में सीसीटीवी फुटेज पर BCCI का कड़ा रुख

भारतीय क्रिकेटर रविंद्र जडेजा और इंग्लैंड के गेंदबाज जेम्स एंडरसन के बीच हुए विवाद की जांच शुरू हो गई है. जांच आयोग ने आज से काम शुरू कर दिया है. इस मामले में आखिरी सुनवाई एक अगस्‍त को होगी. जेम्‍स एंडरसन के खिलाफ लेवल 3 के तहत सुनवाई हो रही है.

भारतीय क्रिकेटर रविंद्र जडेजा और इंग्लैंड के गेंदबाज जेम्स एंडरसन के बीच हुए विवाद की जांच शुरू हो गई है. जांच आयोग ने आज से काम शुरू कर दिया है. इस मामले में आखिरी सुनवाई एक अगस्‍त को होगी. जेम्‍स एंडरसन के खिलाफ लेवल 3 के तहत सुनवाई हो रही है.

मामले की सुनवाई के लिए आईसीसी ने गॉर्डन लुइस को ज्यूडिशियल कमिश्नर नियुक्त किया है. लुइस आईसीसी कोड ऑफ कंडक्ट कमीशन में ऑस्ट्रेलिया के प्रतिनिधि हैं. ज्यूडिशियल कमिश्नर टेलीकॉन्फ्रेंसिंग के जरिए शुरुआती सुनवाई करेंगे और संबंधित पक्षों को सुनवाई की प्रक्रिया बताई जाएगी. वैसे, संभावना यही है कि आज तीसरे टेस्ट से पहले की उस तारीख का एलान किया जाएगा, जब पूरी सुनवाई की जाएगी.

'आज तक' के पास मौजूद एक्‍सक्‍लूसिव जानकारी के मुताबिक इस मामले में अपना पक्ष मजबूती से रखने के लिए बीसीसीआई ने कमर कस ली है. बीसीसीआई के वकील फुटेज नहीं होने की बात कबूल करने को तैयार नहीं है. सीसीटीवी फुटेज पर बोर्ड ने कड़ा रुख अख्तियार किया है. इस मामले में एंटी करप्‍शन अफसर की भूमिका संदेह के घेरे में है. बीसीसीआई अफसर की भूमिका पर सवाल उठा सकती है. बीसीसीआई की दलील यह होगी कि अगर कैमरा नहीं चल रहा है तो आईसीसी की एंटी करप्‍शन यूनिट की जरूरत क्‍या है?

एंडरसन को इस सवाल का जवाब देना है कि उन्होंने नॉटिंघम टेस्ट मैच के दूसरे दिन लंच के दौरान भारत के रवींद्र जडेजा के साथ क्यों बदतमीजी की, क्यों धक्का दिया? टीम इंडिया ने एंडरसन पर ये तमाम आरोप जड़े हैं और वो आईसीसी आचार संहिता के लेवल तीन के तहत आरोपों का सामना कर रहे हैं. इसके बाद ईसीबी ने रविंद्र जडेजा पर भी खेल भावना से खिलवाड़ का आरोप लगाते हुए शिकायत की थी.

क्यों नहीं मिली सीसीटीवी फुटेज?
इस पूरे मामले में ईसीबी पर भी कई सवाल उठ रहे हैं. मसलन, आयोजकों का ये कहना कि स्टेडियम में सीसीटीवी लगे होने के बावजूद उनके पास उस हिस्से की फुटेज नहीं है जहां दोनों खिलाड़ियों के बीच विवाद हुआ था.

सुनवाई के दौरान सवाल तो ऐसे कई होंगे, लेकिन ईसीबी के पास हर किसी का सही जवाब होगा, इसकी उम्मीद कम ही है.

नॉटिंघम विवाद के बाद मैदानी जंग तो टीम इंडिया ने जीत ली है. धक्का कांड की जांच कर रही कमेटी क्या एंडरसन और मेजबान टीम के झूठ को बेनकाब कर पाएगी? मेजबान टीम चारों तरफ से संकट में घिरी नजर आ रही है और आने वाला हर दिन कुक एंड कंपनी के लिए इम्तिहान भरा दिन होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें