scorecardresearch
 

Suresh Raina: सुरेश रैना का ट्वीट- मेरी कश्मीरी हिन्दू बहन की दुर्दशा को सुनें PM मोदी, शेयर किया वीडियो

पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना ने एक रोती-बिलखती महिला का वीडियो शेयर किया है. रैना ने कश्मीरी पंडितों के मसले पर अपनी राय रखी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उनकी मांगें सुनने की अपील की है.

X
सुरेश रैना (File) सुरेश रैना (File)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • कश्मीरी पंडितों के मसले पर सुरेश रैना का ट्वीट
  • प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से एक्शन लेने की मांग

जम्मू-कश्मीर में हाल ही के वक्त में हुईं आतंकी घटनाओं और कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या किए जाने के बाद रोष का माहौल है. लगातार प्रदर्शन किए जा रहे हैं, इस बीच पूर्व क्रिकेटर सुरेश रैना ने भी कश्मीरी पंडितों से जुड़ा मुद्दा उठाया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील की है. रैना ने एक महिला का वीडियो शेयर करते हुए कहा है कि पीएम मोदी को इनकी दुर्दशा सुननी चाहिए. 

सुरेश रैना ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी से निवेदन है कि मेरी कश्मीरी हिंदू बहन की दुर्दशा को सुनें. हम भारतीयों को कश्मीर में आतंकवाद के पीड़ितों के लिए एक साथ खड़ा होना होगा. उन्हें अकेला नहीं छोड़ सकते, आशा है कि वह उनकी मांगों को सुनेंगे और को सुरक्षित स्थान पर पोस्टिंग करेंगे.’ 

सुरेश रैना ने जो वीडियो शेयर किया है, वह कश्मीरी पंडितों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन का है. इसमें एक महिला रोते-बिलखते हुए सुरक्षा का मसला उठा रही है. महिला रोते हुए कह रही है कि कोई मर्द ड्यूटी पर जाता है और शाम को उसकी लाश मिलती है. 90 के दशक में भी हमारे साथ ऐसा हुआ, हमारे बच्चों का क्या होगा क्या उन्हें भी हमारी लाश मिलेगी. 


आगे इस वीडियो में महिला कहती हैं कि हमें सही से ट्रांसफर-पोस्टिंग नहीं मिल रही है, सुरक्षित जगहों पर हमें नहीं भेजा जा रहा है. हम किस तरह सर्वाइव कर रहे हैं, ये हमें ही मालूम है. 

आपका बता दें कि जम्मू-कश्मीर के बडगाम में आतंकियों ने सरकारी दफ्तर में घुसकर कश्मीरी पंडित राहुल भट्ट की हत्या कर दी थी. जब उन्हें अस्पताल ले जाया गया, वहां पर उनकी मौत हो गई थी. इस हत्या होने के बाद से ही जम्मू-कश्मीर में तनाव है. लगातार कश्मीरी पंडितों द्वारा विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है. 

हालांकि, सुरक्षाकर्मियों ने राहुल भट्ट की मौत का बदला 24 घंटे के भीतर ही ले लिया था. राहुल भट्ट की हत्या में शामिल आतंकियों को एनकाउंटर में मार गिराया गया था. लेकिन राहुल भट्ट को इंसाफ दिलाने और कश्मीरी पंडितों की सुरक्षा को लेकर लगातार प्रदर्शन किया जा रहा है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें