scorecardresearch
 

MS Dhoni IPL 2022: 'धोनी का कप्तानी छोड़ना बड़ी...', CSK के खराब प्रदर्शन पर बोले मोहम्मद कैफ

आईपीएल के मौजूदा सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स प्लेऑफ की रेस से बाहर हो चुकी है. टीम के इस खराब प्रदर्शन को लेकर पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने अहम बयान दिया है.

X
MS Dhoni and Ravindra Jadeja (@IPL) MS Dhoni and Ravindra Jadeja (@IPL)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • प्लेऑफ से बाहर हो चुकी है सीएसके
  • जडेजा ने 8 मैचों में की CSK की कप्तानी

चार बार की चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स (CSK) इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) के मौजूदा सीजन में प्लेऑफ की रेस से बाहर हो चुकी है. गुरुवार को खेले गए मुकाबले में मुंबई इंडियंस ने सीएसके को 5 विकेट से मात दी थी. खास बात यह है कि पांच बार की चैम्पियन टीम मुंबई प्लेऑफ की होड़ से पहले ही आउट हो चुकी है.

अब पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ ने आईपीएल के मौजूदा सीजन में सीएसके के खराब प्रदर्शन को लेकर बड़ी बात कही है. कैफ का मानना ​​​​है कि चेन्नई सुपर किंग्स का आईपीएल 2022 सीजन काफी बेहतर होता अगर एमएस धोनी टीम के कप्तान बने रहते. गौरतलब है कि सीजन की शुरुआत से ठीक पहले धोनी ने कप्तानी रवींद्र जडेजा को सौंप दी थी.

जडेजा ने आठ मैचों में की कप्तानी

हालांकि जडेजा की कप्तानी में सीएसके ने शुरुआती आठ मैचों में से छह में हार का सामना किया. इसके बाद जडेजा ने कप्तानी छोड़ दी और धोनी को वापस टीम का कप्तान बना दिया गया, सीएसके ने तब से अपने चार मैचों में से दो में जीत दर्ज की है, लेकिन अब उसका प्लेऑफ में जाने का सपना टूट चुका है.

जडेजा कप्तानी के लिए तैयार नहीं थे: कैफ

मोहम्मद कैफ ने एक खेल वेवसाइट से कहा, 'धोनी द्वारा सीएसके की छोड़ना एक बड़ी गलती थी. अगर धोनी प्लेइंग इलेवन में हैं, तो उन्हें कप्तान होना चाहिए था. जडेजा स्पष्ट रूप से कप्तानी के लिए तैयार नहीं दिखते थे. टी20 में जहां आपको तेजी से निर्णय लेने की आवश्यकता होती है और दिमाग को फ्रेश रखने की जरूरत होती है. उन्होंने सिर्फ एक गेम के बाद कॉन्वे जैसे होनहार बल्लेबाज को ड्रॉप कर दिया था. इसलिए उन्होंने अपनी बेस्ट इलेवन भी नहीं उतारी थी.'

मुंबई-चेन्नई मैच होता है रोमांचक: कैफ

कैफ ने मुंबई-चेन्नई मैच को लेकर बताया. 'मुंबई और चेन्नई के बीच मैच को लेकर हमेशा उत्साह रहता है. आप दोनों पक्षों के बड़े और हेवीवेट खिलाड़ियों के बारे में बात करते हैं. यह भी एक ऐतिहासिक प्रतिद्वंद्विता है. वे कई बार फाइनल में पहुंचे हैं. हालांकि उन्होंने इस सीजन में अच्छा गेम नहीं खेला, लेकिन प्वाइंट टेबल पर मत जाओ. मुझे अभी भी मलिंगा का वह ओवर याद है जहां आखिरी गेंद पर उन्होंने शार्दुल ठाकुर को एलबीडब्ल्यू किया था. इस साल भी सभी को याद है कि धोनी ने अंतिम ओवर में 4 गेंदों में 16 रन बनाकर किस तरह से खेल समाप्त किया था.'


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें