scorecardresearch
 

घरेलू मैदान पर पहली बार टीम इंडिया की कप्तानी करेंगे कोहली

किसी भी क्रिकेटर के लिये देश की अगुवाई करना गर्व की बात होती है लेकिन जब आप अपने घरेलू मैदान पर अपने लोगों के सामने कप्तानी करते हो तो यह उस खिलाड़ी के लिए विशेष बन जाता है. भारतीय टेस्ट कप्तान विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फिरोजशाह कोटला में पहली बार टीम की अगुवाई कर रहे हैं.

विराट कोहली विराट कोहली

किसी भी क्रिकेटर के लिये देश की अगुवाई करना गर्व की बात होती है लेकिन जब आप अपने घरेलू मैदान पर अपने लोगों के सामने कप्तानी करते हों तो यह उस खिलाड़ी के लिए विशेष बन जाता है. भारत के टेस्ट कप्तान विराट कोहली दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ फिरोजशाह कोटला में पहली बार टीम की अगुवाई कर रहे हैं. तो निश्चित तौर पर उन पर भावनाओं का ज्वार हावी रहेगा.

27 वर्षीय विराट ने कुछ पुरानी यादों को ताजा किया जब उन्होंने यहां ट्रायल मैच में आयु वर्ग की टीम की तरफ से शतक जड़ा और फिर इसी मैदान पर वनडे सैकड़ा बनाया. कोहली ने कोटला पर कप्तानी के बारे में पूछे जाने पर कहा, ‘मेरी क्रिकेट की शुरुआत यहां राज्य की टीम से हुई थी. मैंने अपना पहला रणजी मैच यहीं पर खेला था. इस मैदान से विशेष यादें जुड़ी हैं. अपने घरेलू मैदान पर भारतीय टीम की कप्तानी करना मेरे लिए विशेष मौका है.’

उन्होंने कहा, ‘यही वह मैदान है जहां सब कुछ मेरे अनुकूल हुआ. इसी मैदान पर मैंने ट्रायल मैच में शतक लगाया था. तब सभी चयनकर्ता और प्रशासक देख रहे थे और संभवत: वे उससे प्रभावित हुए. पहले साल नकार दिए जाने के बाद मैंने इस तरह से टीम में जगह बनाई. इस मैदान पर वास्तव में मैंने अपना करियर शुरू होते हुए देखा.’

कोहली ने कहा कि देश की तरफ से खेलना ही बड़ी उपलब्धि है लेकिन घरेलू मैदान पर टीम की अगुवाई करना कभी किसी खिलाड़ी का लक्ष्य नहीं होता है. उन्होंने कहा, ‘मैंने कभी नहीं सोचा था कि मेरी जिंदगी में यह दिन भी आएगा. जब आप क्रिकेटर के रूप में शुरुआत करते हो तो आपका सपना भारत की तरफ से खेलना होता है. लेकिन कप्तानी ऐसी चीज है जिसको आप कभी लक्ष्य नहीं बनाते हो. मैं जिम्मेदारी समझता हूं और मैं भाग्यशाली रहा कि मैंने विभिन्न स्तरों पर कप्तानी की है. इसलिए मुझे यह पसंद है और मैं इसका आनंद लेता हूं.’

घरेलू मैदान पर भी आक्रामक दिखेंगे कोहली
मैच से पहले कप्तान कोहली ने यह साफ कर दिया है कि वो अपने घरेलू मैदान कोटला पर भी अफ्रीकी टीम को बख्शने के मूड में नहीं हैं. उन्होंने दो टूक लहजे में कहा, ‘टीम में बदलाव जीत या हार के आधार पर नहीं बल्कि परिस्थितियों पर निर्भर करती है. हमारी मानसिकता निर्मम बने रहने की है और हम 3-0 से सीरीज जीतने की कोशिश करेंगे. बदलाव परिस्थितियों पर निर्भर करेगा, इसलिए नहीं कि हमें किसी को मौका देना है. अभी हम ऐसी स्थिति में हैं कि प्रयोग नहीं कर सकते हैं. जब टीम और मजबूती हासिल कर लेगी तब इस बारे में सोचेंगे.’

ये भी पढ़ें:
कप्तान विराट कोहली ने खोल दिया अश्विन की सफलता का राज
रविचंद्रन अश्विन के कारण लगातार दो सीरीज जीतेः विराट कोहली
जब विराट कोहली की बैटिंग से डरी विरोधी टीम
सर्वाधिक शतकों के मामले में विराट कोहली ने गांगुली, गेल और दिलशान को पीछे छोड़ा
कप्तान विराट कोहली के लिए है बेहद खास मौका
परिणाम वाले विकेट जरूरीः विराट कोहली
विराट कोहली की पांच यादगारी पारियां
विराट कोहली ने खरीदी 1.87 करोड़ की Audi A8L

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें