scorecardresearch
 

आईसीसी ने बदल दिया T-20 के विश्व कप का नाम, जानें वजह

भारत ने 2007 में पहला टी-20 विश्व कप महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में जीता था. अब 2020 में ऑस्ट्रेलिया में यह चैंपियनशिप आयोजित होगी.

मौजूदा चैंपियन इंडीज (फोटो- ICC) मौजूदा चैंपियन इंडीज (फोटो- ICC)

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद ने आईसीसी विश्व टी-20 (ICC World T20)  का नाम टी-20 विश्व कप (ICC T20 World Cup) करते हुए दावा किया कि इससे टूर्नामेंट का दर्जा वनडे और टेस्ट प्रारूप की तरह होगा. आईसीसी बोर्ड ने पहले ही सदस्य देशों के बीच होने वाले टी-20 मैचों को अंतरराष्ट्रीय मैच की मान्यता दे दी है.

आईसीसी ने सभी 104 सदस्य देशों के लिए क्षेत्रीय क्वालिफिकेशन को लागू किया है. आईसीसी के कैलेंडर में 50 ओवरों के टूर्नामेंट को विश्व कप कहा जाता है और अगले साल से विश्व टेस्ट चैंपियनशिप की शुरुआत हो रही है.

आईसीसी ने एक बयान में कहा, ‘2020 में ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टी-20 के अगले सत्र को आईसीसी महिला टी-20 विश्व कप 2020 (ICC Women’s T20 World Cup 2020) और आईसीसी पुरुष टी-20 विश्व कप 2020 ( ICC Men’s T20 World Cup 2020) के नाम से जाना जाएगा.’

बयान के मुताबिक इस टूर्नामेंट का नाम अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट कैलेंडर में टी-20 विश्व कप के महत्व को बढ़ाने के उद्देश्य से किया गया है और यह सुनिश्चित करने की कोशिश है कि तीनों प्रारूपों में समानता बनी रहे.

दक्षिण अफ्रीका के कप्तान फाफ डु प्लेसिस के साथ भारतीय पुरुष और महिला टीमों के कप्तान विराट कोहली और हरमनप्रीत कौर ने इस पहल का स्वागत किया. कोहली ने कहा, ‘ टी-20 क्रिकेट के सबसे बड़े टूर्नामेंट को अब विश्व कप कहा जाएगा, जो कि सही नाम है. भारत ने 2007 में पहला टी-20 विश्व कप जीता था और ऑस्ट्रेलिया में 2020 में होने वाले विश्व कप में जीत दर्ज करना हमारे लिए शानदार होगा.’

हरमनप्रीत ने कहा, ‘मैं आश्वस्त हूं कि आने वाले वर्षों में इस टूर्नामेंट की लोकप्रियता में इजाफा होगा.’ डु प्लेसिस ने कहा, ‘हर खिलाड़ी सपना विश्व कप में खेलने का होता है और इस पहल से ज्यादा खिलाड़ियों को ऐसा मौका मिलेगा.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें