scorecardresearch
 

IND vs SA, 3rd Test: अपनी टीम की जीत से गदगद अफ्रीकी कोच, तारीफ में कही ये बात

साउथ अफ्रीका के हेड कोच मार्क बाउचर ने भारत पर मिली 2-1 की जीत को अपने देश के टेस्ट इतिहास की सर्वश्रेष्ठ सफलता में से एक करार दिया. साथ ही बाउचर ने कप्तान डीन एल्गर और उप-कप्तान टेम्बा बावुमा की जमकर तारीफ की.

SA team (getty) SA team (getty)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मार्क बाउचर ने अपनी टीम के प्रदर्शन को सराहा
  • एल्गर की कप्तानी में SA ने भारत को दी है मात

IND vs SA, 3rd Test: साउथ अफ्रीका ने केपटाउन टेस्ट मैच में भारत को हराकर टेस्ट सीरीज पर कब्जा कर लिया. टेस्ट मैच के चौथे दिन डीन एल्गर एंड कंपनी ने 212 रनों के लक्ष्य को तीन विकेट खोकर हासिल कर लिया. साउथ अफ्रीकी टीम के लिए यह सीरीज जीत काफी खास है क्योंकि सेंचुरियन टेस्ट में उसे हार झेलनी पड़ी थी.

अब, साउथ अफ्रीका के हेड कोच मार्क बाउचर ने भारत पर मिली 2-1 की जीत को अपने देश के टेस्ट क्रिकेट इतिहास की सर्वश्रेष्ठ सफलता में से एक करार दिया. साथ ही बाउचर ने कप्तान डीन एल्गर और उप-कप्तान टेम्बा बावुमा की जमकर तारीफ की.

बाउचर ने मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, 'इसे इस तरह देखा जाना चाहिए कि हमने तीनों मैच में टॉस गंवा दिया था.‌मीडिया सहित कई लोगों ने सीरीज के शुरुआती टेस्ट के पहले दिन के बाद हमारी हार की भविष्याणी की थी.'

बाउचर ने कहा, 'पहले टेस्ट मैच को बुरी तरह से हारने के बाद वापसी करते हुए दूसरे और तीसरे टेस्ट मैच को जीतना बेहद ही शानदार रहा. यह हमारी टॉप-5 जीत में से एक होना चाहिए. सीरीज से पहले हमारी जो स्थिति थी और मैदान के बाहर की बातों के बावजूद ऐसा अच्छा नतीजा हासिल करना बेहतरीन है.'

इस ऐतिहासिक जीत को मनोबल बढ़ाने वाला करार देते हुए बाउचर ने कहा, 'जिस तरह से पूरी टेस्ट सीरीज खेली गई थी वह कठिन संघर्ष थी. बैट और बॉल के बीच अच्छा संघर्ष हुआ. यह साउथ अफ्रीका में खेली गई सर्वश्रेष्ठ टेस्ट सीरीजों में से एक होनी चाहिए. इस जीत से मनोबल बहुत बढ़ेगा. इतने कम समय में इन खिलाड़ियों ने जिस तरह का जज्बा दिखाया वह बहुत ही खास है.'

इस सीरीज से पहले साउथ अफ्रीका ने डीन एल्गर की कप्तानी में महज छह मैच खेले थे और सेंचुरियन के मैदान पर टीम छह महीने के लंबे अंतराल के बाद टेस्ट मैच खेलने उतरी थी. सेंचुरियन में हार के बाद पिछले दोनों टेस्ट में एल्गर के नेतृत्व में अनुभवहीन टीम ने उछाल भरी परिस्थितियों में 200 से अधिक के टारगेट को आसानी से हासिल किया. जहां एल्गर ने जोहानिसबर्ग में टीम को जीत रास्ता दिखाया, तो वही केपटाउन में कीगन पीटरसन ने 82 रन बनाकर मार्ग प्रशस्त किया.

बाउचर टीम के पलटवार करने को लेकर भी आश्चर्यचकित नहीं है. उन्होंने कहा, 'मुझे आश्चर्य नहीं है क्योंकि आपकी टीम में डीन एल्गर जैसा खिलाड़ी है. वह जोश एवं जज्बा दिखाते हुए टीम का नेतृत्व करते हैं. आपके पास उप-कप्तान के रूप में टेम्बा बावुमा भी हैं. वह संघर्ष करने वाला प्लेयर है. इसलिए आपके पास नेतृत्व करने वाले दो खिलाड़ी है, जिनका लोग अनुसरण कर सकते है.'


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×