scorecardresearch
 

भुवी ने बताया- बैटिंग के लिए उतरा तो धोनी ने ऐसा कहा करने को

दोनों ने मैच जिताऊ 100 रन की नाबाद पार्टनरशिप कर विकेटों के गिरने का सिलसिला रोका था. इस दौरान भुवनेश्वर 53 और धोनी 45 रन बनाकर नाबाद रहे थे.

भुवनेश्वर-धोनी भुवनेश्वर-धोनी

श्रीलंका के खिलाफ दूसरे वनडे में महेंद्र सिंह धोनी और भुवनेश्वर कुमार की जुझारू बल्लेबाजी से टीम इंडिया ने हारी हुई बाजी जीत ली. दोनों ने मैच जिताऊ 100 रनों की नाबाद पार्टनरशिप कर विकेटों के गिरने का सिलसिला रोका था. इस दौरान भुवनेश्वर 53 और धोनी 45 रन बनाकर नाबाद रहे थे.

भुवनेश्वर ने मैच के बाद कहा, 'जब मैं बल्लेबाजी के लिए उतरा, तो धोनी ने मुझे टेस्ट क्रिकेट की तरह अपना स्वाभाविक खेल दिखाने को कहा. उन्होंने कहा कि दबाव नहीं लूं, क्योंकि काफी ओवर बाकी हैं. हमें पता था कि आराम से खेलने पर लक्ष्य हासिल करना मुश्किल नहीं होगा.'

उन्होंने कहा, 'मुझे पता था कि उन हालात में खोने के लिए कुछ नहीं था, क्योंकि हमारे 7 विकेट पहले ही गिर चुके थे. मैं सोच रहा था कि जितना हो सके, एमएस की मदद करूं. मैने वही कोशिश भी की.' श्रीलंका के ऑफ स्पिनर अकिला धनंजय ने 54 रन देकर 6 विकेट लिए और भारतीय मध्यक्रम को तोड़ दिया था.

भुवनेश्वर ने कहा, 'यह हैरानी की बात थी क्योंकि शुरुआती साझेदारी बहुत अच्छी हुई थी. इसके बाद 3-4 विकेट गिर गए, तो हम दबाव में आ गए. ड्रेसिंग रूम या धोनी की ओर से कोई संदेश नहीं था.' भुवी ने बताया, 'उन्होंने (धोनी) सिर्फ यही कहा कि जितनी देर हो सके, क्रीज पर डटा रहूं. मैं भी यही चाहता था, क्योंकि पूरे ओवर टिके रहने पर ही हम जीत सकते थे.'

 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें