scorecardresearch
 

गौतम गंभीर बोले- जल्द से जल्द स्वस्थ हों आफरीदी, क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद बंद करे PAK

ई-सलाम क्रिकेट के मंच पर बीजेपी सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि मेरे और शाहिद आफरीदी की राजनीतिक सोच अलग हो सकती है, लेकिन मैं चाहूंगा कि शाहिद आफरीदी जल्द से जल्दी स्वस्थ हों.

गौतम गंभीर (फाइल फोटो) गौतम गंभीर (फाइल फोटो)

  • ई-सलाम क्रिकेट के मंच पर गौतम गंभीर
  • कहा- शाहिद आफरीद जल्द स्वस्थ हों

पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद आफरीदी के कोरोना पॉजिटिव होने पर बीजेपी सांसद और पूर्व क्रिकेटर गौतम गंभीर ने कहा कि यह वायरस किसी को भी नहीं होना चाहिए. मेरे और शाहिद आफरीदी की राजनीतिक सोच अलग हो सकती है, लेकिन मैं चाहूंगा कि शाहिद आफरीदी जल्दी स्वस्थ हों.

गौतम गंभीर ने कहा कि शाहिद आफरीदी से ज्यादा जरूरी है कि मेरे देश का आम व्यक्ति, जो कोरोना पॉजिटिव हो चुका है, वो जल्दी से ठीक हो. मेरे लिए देश के लोगों का स्वस्थ होना बहुत जरूरी है. जहां तक पाकिस्तान की ओर से मदद का सवाल है तो उन्हें पहले अपने देश की मदद करनी चाहिए. पाकिस्तानी आवाम को मदद की ज्यादा जरूरत है.

गौतम गंभीर का तंज- CM का 3 घंटे में कोरोना टेस्ट हुआ, आम आदमी 3-4 दिन धक्के खा रहा

आतंकवाद का मसला उठाते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि पाकिस्तान ने कोरोना को लेकर जो मदद की पेशकश की है, उसके लिए शुक्रिया, लेकिन सबसे जरूरी है कि अभी क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद को बंद कीजिए, क्योंकि इस स्थिति में भी हमारे जवान क्रॉस बॉर्डर आतंकवाद से लड़ रहे हैं. कम से कम यह चीज बंद हो.

कोरोना: BJP सांसद गौतम गंभीर ने केजरीवाल सरकार को दिए 5 सुझाव

पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए गौतम गंभीर ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि वो आतंकवाद को बंद करेंगे, क्योंकि उनकी पूरी राजनीति कश्मीर पर टिकी है. उनका कोई वजूद बिना कश्मीर के नहीं है. ऐसे में अगर पाकिस्तान मदद करना चाहता है तो आतंकवाद बंद करे, जिससे हमारे जवान सुरक्षित रहे और पाकिस्तानी जनता भी सुरक्षित रहे.

वहीं दिल्ली में बढ़ रहे कोरोना केस पर गौतम गंभीर ने केजरीवाल सरकार पर निशाना साधा. गौतम गंभीर ने कहा कि दिल्ली की हालत चिंताजनक है. प्रवासियों के लिए केंद्र ने पैसे दिए थे, लेकिन केजरीवाल सरकार प्रवासियों को संभाल नहीं पाई और उन्हें मजबूरन पलायन करना पड़ा.

गंभीर बोले- कहां हैं 30 हजार बेड? सच बताए केजरीवाल सरकार

गौतम गंभीर ने आरोप लगाया कि केजरीवाल सरकार पारदर्शिता नहीं रखती है. दिल्ली में 30 हजार बेड के इंतजाम का दावा किया गया था, लेकिन बेड नहीं है. लोगों को धक्के खाने पड़ रहे हैं. एमसीडी के अस्पतालों को कोविड अस्पताल में नहीं बदला जा रहा है. केवल विज्ञापन और प्रेस कॉन्फ्रेंस से कोरोना से लड़ा नहीं जा सकता है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें