scorecardresearch
 
क्रिकेट

IPL: ये है चेन्नई सुपर किंग्स की ताकत, चौथी बार चैम्पियन बनना है लक्ष्य

Chennai Super Kings
  • 1/7

साल 2008 में इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) की शुरुआत होने के बाद से अब तक चेन्नई सुपर किंग्स टीम में काफी निरंतरता रही है. टीम ने आईपीएल के इतिहास में अब तक तीन बार ट्रॉफी अपने नाम की है जबकि आठ बार फाइनल में पहुंची है. भारत के वर्ल्ड चैम्पियन पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में चेन्नई सुपर किंग्स की टीम अपने प्रतिद्वंद्वियों के लिए हमेशा से मुश्किलें खड़ी करती रही है. लीग के इस 13वें सीजन में सभी की नजरें धोनी पर होंगी, जिन्होंने पिछले महीने ही अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को अलविदा कहा था. धोनी एक साल से भी ज्यादा समय के बाद क्रिकेट के मैदान पर उतरेंगे. उन्होंने अपना पिछला मैच 2019 वर्ल्ड कप में न्यूजीलैंड के खिलाफ खेले गए सेमीफाइनल मैच में खेला था, लेकिन अब फैन धोनी के हेलिकॉप्टर शॉट को देखने का बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं.

Chennai Super Kings
  • 2/7

वेस्टइंडीज के ऑलराउंडर और चेन्नई सुपर किंग्स के स्टार खिलाड़ी ड्वेन ब्रावो ने हाल में कहा था कि धोनी इस टीम में भी बदलाव को उसी तरह संभालेंगे जिस तरह से उन्होंने भारतीय टीम में संभाला था. ब्रावो के अनुसार, धोनी पर चेन्नई की कप्तानी करते हुए भारतीय टीम की कप्तानी की तुलना में कम दबाव होगा. मीडिया ने जब ब्रावो से हाल में धोनी के उत्तराधिकारी के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा था, मुझे पता है कि यह कुछ समय से दिमाग में चल रहा होगा. मेरा मतलब है कि एक समय पर हमें सभी को अलग होना पड़ेगा. यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप कब पीछे हटते हो और इसे किसे संभालने को देते हो. यह रैना हों या कोई युवा.

Chennai Super Kings
  • 3/7

लीग के इस सीजन का पहला मैच मौजूदा विजेता मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच 19 सितंबर को अबु धाबी में खेला जाएगा. कोविड-19 के कारण इस बार IPL संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में 19 सितंबर से खेला जाएगा. चेन्नई की नजरें चौथी बार चैम्पियन बनने और सर्वाधिक बार खिताब जीतने के मुंबई इंडियंस के रिकॉर्ड की बराबरी करने पर लगी हुई है.

Chennai Super Kings
  • 4/7

चेन्नई सुपर किंग्स की ताकत: धोनी चेन्नई के सबसे मजबूत कड़ी होंगे, क्योंकि वह लंबे समस से टीम का हिस्सा हैं. उन्हें अपने खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन निकालने का श्रेय दिया जाता है और यह गुणवत्ता एक बार फिर सीएसके को 10 नवंबर को ट्रॉफी उठाते हुए देख सकती है. यूएई में स्पिन के अनुकूल परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए, धोनी के पास इमरान ताहिर, रवींद्र जडेजा, मिशेल सेंटनर और पीयूष चावला के रूप में विश्व स्तर के गेंदबाज होंगे. बल्लेबाजी में उनके पास फाफ डु प्लेसिस, अंबति रायडू, शेन वॉटसन और ब्रावो का अनुभव है जो अपने दम पर मैच जिताने का माद्दा रखते हैं.

Chennai Super Kings
  • 5/7

कमजोरी: सीएसके ने हमेशा से ठोस शुरुआत पर भरोसा किया है. इसके बाद सुरेश रैना ने नंबर 3 पर लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे थे, लेकिन इस बार रैना स्वदेश लौट आए हैं और वह इस सीजन में नहीं खेलेंगे. ऐसे में किसी और के पास रैना की कमी को पूरा करने की जिम्मेदारी होगी. इसी तरह, अनुभवी स्पिनर हरभजन सिंह भी इस सीजन में नहीं खेलेंगे, जिससे टीम का संतुलन थोड़ा प्रभावित होगा. वह न केवल विकेट लेने वाले गेंदबाज है, बल्कि बल्ले से कुछ अच्छे शॉट मार सकते हैं. दूसरी बात जो सीएसके को चिंता होगी, वह है धोनी, शेन वॉटसन और अंबति रायडू जैसे उनके सीनियर बल्लेबाजों के मैच अभ्यास की कमी.

Chennai Super Kings
  • 6/7

टीम: महेंद्र सिंह धोनी (कप्तान / विकेटकीपर), ड्वेन ब्रावो, फाफ डु प्लेसिस, शेन वॉटसन, रवींद्र जडेजा, अंबति रायडू, पीयूष चावला, केदार जाधव, कर्ण शर्मा, इमरान ताहिर, दीपक चाहर, शार्दुल ठाकुर, लुंगी एनगिडी, मिशेल सेंटनर, सैम कुरेन, मुरली विजय, जोश हेजलवुड, ऋतुराज गायकवाड़, एन जगदीशन (विकेटकीपर), केएम आसिफ, मोनू कुमार, आर साई किशोर. 

Chennai Super Kings
  • 7/7

सपोर्ट स्टाफ: स्टीफन फ्लेमिंग (मुख्य कोच), माइकल हसी (बल्लेबाजी कोच), लक्ष्मीपति बालाजी (गेंदबाजी कोच), एरिक सीमन्स (गेंदबाजी सलाहकार), राजीव कुमार (फील्डिंग कोच), टॉमी सिमसेक (फिजियोथेरेपिस्ट), ग्रेगरी किंग (ट्रेनर), आर रसेल (टीम मैनेजर), लक्ष्मी नारायण (प्रदर्शन विश्लेषक), संजय नटराजन (लॉजिस्टिक्स मैनेजर).