scorecardresearch
 

30 साल की मेहनत के बाद बनी Malaria Vaccine, देखें क्यों लगा इतना समय

30 साल की मेहनत के बाद बनी Malaria Vaccine, देखें क्यों लगा इतना समय

आज दुनिया की पहली मलेरिया वैक्सीन को मान्यता मिल गई है. World Health Organization ने इस वैक्सीन को मान्यता दी है. आपको जानकर आश्चर्य होगा कि मलेरिया दुनिया की सबसे पुरानी और जानलेवा बीमारियों में से एक है जिसकी अब तक कोई एक वैक्सीन नहीं थी लेकिन वैज्ञानिकों की 30 साल की लंबी मेहनत के बाद मलेरिया की वैक्सीन तैयार कर ली गई है. सही मायने में आज मलेरिया जैसी बीमारी पर विजय दिवस मनाने का दिन है. इस वैक्सीन का नाम है मॉसक्विरिक्स जिसे मेडिकल की भाषा में RTSS भी कहा जाता है. इस वैक्सीन के आने से भारत सहित आधी दुनिया ने राहत की सांस ली है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें वीडियो.

The World Health Organization on Wednesday endorsed the RTS,S/AS01 malaria vaccine, the first against the mosquito-borne disease. It’s the very first vaccine offering immunity against a parasite-specifically the plasmodium falciparum parasite, which is the deadliest of the five parasites that cause malaria. Watch the video for more information.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें