scorecardresearch
 

यूपी: गौतम बुद्ध नगर में बढ़ रहा डेंगू-मलेरिया का खतरा, जिला प्रशासन ने जारी की एडवाइजरी

बारिश के बाद जिले में मलेरिया के मरीज बढ़ने लगे हैं. शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग ने 97 बुखार के मरीजों की लक्षणों के आधार पर जांच कराई. इसमें से एक मलेरिया का मरीज मिला.

बरसात के बाद बढ़ा मलेरिया का खतरा (सांकेतिक फोटो) बरसात के बाद बढ़ा मलेरिया का खतरा (सांकेतिक फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बरसात के बाद वेक्टर जनित बीमारियों का खतरा बढ़ा
  • जिला प्रशासन ने लोगों के लिए जारी किए निर्देश
  • अस्पतालों, सीएचसी व पीएचसी में बढ़ाई तैयारी

दिल्ली से सटे गौतमबुद्ध नगर में बरसात के बाद वेक्टर जनित बीमारियों का खतरा बढ़ गया है. हालांकि जिला स्वास्थ्य विभाग इससे निपटने के लिए पुरजोर प्रयास कर रहा है. बारिश के बाद जिले में मलेरिया के मरीज बढ़ने लगे हैं. शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग ने 97 बुखार के मरीजों की लक्षणों के आधार पर जांच कराई. इसमें से एक मलेरिया का मरीज मिला. वर्तमान में डेंगू नियंत्रण एवं उसके बचाव तथा वेक्टर जनित रोगों से जनपद वासियों को सुरक्षित बनाये रखने के उद्देश्य से समस्त जनपद वासियों को गुणात्मक स्वास्थ्य सेवायें देने के लिए जिला प्रशासन प्रयास कर रहा है. 

इसी क्रम में प्रभारी जिलाधिकारी रितू माहेश्वरी के निर्देशों के क्रम में मुख्य विकास अधिकारी अनिल कुमार सिंह ने जानकारी देते हुये बताया कि जनपद में किसी भी रोग के फैलने से रोकने के लिए, कार्य योजना बनाकर सभी तैयारियां समय रहते पूर्ण कर ली गयी है. उन्होंने बताया कि वर्तमान में वेक्टर जनित रोगों को दृष्टिगत रखते हुये स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से हेल्पलाइन नम्बर 18004192211 जारी किया गया है.

वहीं जनपद के जिला चिकित्सालय एवं समस्त सीएचसी व पीएचसी पर हेल्प डेस्क की स्थापना, इमरजेंसी वार्ड में समस्त सुविधायें,  बाल रोग को लेकर बाल रोग विशेषज्ञों की  'डॉक्टर ऑन कॉल' की सुविधा, मेडिसिन वार्ड में समस्त औषधियां व ऑक्सीजन सिलेण्डर/ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था, जांच की सुविधा, बल्ड बैंक, ऑक्सीजन की सुविधायें, क्रियाशील एम्बुलेंस तथा अन्य व्यवस्था समय रहते पूर्ण कर ली गयी हैं.

और पढ़ें- Tips To Treat Mosquito Bite: मच्छर काटने पर क्यों होती है खुजली? इन 7 तरीकों से मिलेगी राहत

उन्होंने जानकारी देते हुये यह भी बताया कि जनपद में बुखार के रोगियों की जानकारी प्रतिदिन प्रत्येक चिकित्सा इकाई से आरआरटी, नियंत्रण कक्ष, अफवाह पंजीका, रिर्पोटिंग सिस्टम के माध्यम से निरंतर ली जा रही है. उन्होंने जिला औषधि निरीक्षक को निर्देश देते हुये कहा कि उनके द्वारा जनपद की समस्त चिकित्सा इकाइयों पर आवश्यक औषधियां प्रचुर मात्रा में उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें एवं औषधि जमा खोरी/काला बाजारी के विरूद्ध कार्रवाई सुनिश्चित करें. ताकि जनपद वासियों को आवश्यक औषधि प्राप्त करने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पडे़. 

उन्होंने वर्तमान में डेंगू बुखार के नियंत्रण एवं उसके बचाव व वेक्टर जनित रोगो के संबंध में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को व्यापक स्तर पर प्रचार प्रसार करने के निर्देश दिए हैं. ताकि डेंगू जैसे लक्षण युक्त नागरिकों का समय रहते सरकारी अस्पतालों में इलाज संभव कराया जा सके. वेक्टर जनित बीमारियों को लेकर जिला पंचायत राज अधिकारी, प्राधिकरणों, नगर पालिका, नगर पंचायत, ग्राम पंचायत को कहा कि उनके द्वारा अपने अपने क्षेत्रों में विशेष स्वच्छता अभियान संचालित किया जाए. ताकि जनपद में वेक्टर जनित बीमारियों पर अंकुश लगाया जा सके.

उन्होंने आम नागरिकों का आह्वान करते हुये कहा कि उनके द्वारा डेंगू/मलेरिया आदि वेक्टर जनित रोगों से बचने के लिए अपने घरों के आस पास पानी एकत्रित ना होने दें एवं कूलर का पानी, टंकी आदि को सप्ताह में एक बार अवश्य साफ करें तथा बुखार आने पर स्वंय उपचार न करके, नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र से सम्पर्क करें या हेल्पलाइन नंबर-18004192211 पर सम्पर्क निशुल्क परामर्श ले सकते हैं. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें