scorecardresearch
 
साइंस न्यूज़

अमेरिका के 4 शहरों में 2024 से चलेंगी इलेक्ट्रिक एयर टैक्सी, ये है प्लान

Air Taxi will Fly in 2024
  • 1/9

अमेरिका के चार बड़े शहरों में साल 2024 से एयर टैक्सी चलाने की योजना है. ये एयर टैक्सी इलेक्ट्रिक होगी. यानी एयरक्राफ्ट पूरी तरह से बैट्री की ऊर्जा पर चलेगा. इसके लिए अमेरिकी कंपनी जोबी एविएशन ने तैयारी कर ली है. इसके यान को देखकर लगता है कि ये किसी पुरानी साइंस फिक्शन फिल्म की उड़ने वाली कारें हैं. लेकिन यह एक बार में सीधे 1000 फीट की ऊंचाई तक सीधा टेकऑफ करता है. फिर इसके 6 प्रोपेलर आगे की तरफ झुकते हैं और ये उड़ान की शुरुआत 144 KM प्रतिघंटा की रफ्तार से करता है. हैरान की बात ये है कि इसे रिमोट से कंट्रोल किया जाता है. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 2/9

जोबी एविएशन (Joby Aviation) ने 12 साल पुराना स्टार्टअप है. इसका मुख्यालय सांताक्रूज में है. इसके इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट के सामने कई दिग्गज कंपनियां चुनौती बनकर खड़ी है. ये कंपनियां हैं बोईंग, लॉकहीड मार्टिन, एयरबस, बीटा टेक्नोलॉजीस और जर्मनी की वोलोकॉप्टर. लेकिन जोबी के संस्थापक जोबेन बीवर्ट (JoeBen Bevirt) का मानना है कि वो इस चुनौती को आसानी से पार कर लेंगे. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 3/9

अमेरिका के कुटीर उद्योगों में शामिल लोगों को सड़कों, मेट्रो और अन्य तरीकों से आने-जाने में काफी समय लगता है. इसलिए वो शहरों के बीच ऐसी सेवा चाह रहे थे जो तेज, सस्ती और प्रदूषण न फैलाने वाली हो. इस पर अमेरिकी फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन (FAA) के प्रमुख स्टीव डिक्सन ने कहा कि उन्होंने हाउस एप्रोप्रिएशन सबकमेटी के सामने कहा है कि हमें साल 2023 तक शहरी एयरक्राफ्ट की जरूरत पड़ेगी. क्योंकि इसकी जरूरत सबको है. मुझे उम्मीद है कि ये एयरक्राफ्ट 2024 से उड़ने लगेंगे. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 4/9

इलेक्ट्रिक एयरक्राफ्ट को eVTOL कहा जाता है. मॉर्गन स्टैनले का ऐसा अनुमान है कि 2040 तक यह इंडस्ट्री 1 ट्रिलियन डॉलर्स यानी 73 लाख करोड़ रुपयों की हो जाएगी. अगर एयर टैक्सी सर्विस की बात करें तो जोबी एविएशन बाकी प्रतियोगियों को पिछाड़ सकती है. क्योंकि ये FAA की गाइडलाइंस के अनुसार काम कर रहे हैं. उनके साथ लगातार मीटिंग्स कर रहे हैं. इतना ज्यादा समय किसी और प्रतियोगी ने नहीं दिया है. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 5/9

जोबी एविएशन ने कार निर्माता कंपनी टोयोटा मोटर कॉर्प से 400 मिलियन डॉलर्स यानी 2920 करोड़ से ज्यादा का फंड जुटाया है. इस राशि ये कई टैक्सी बना सकते हैं. जोबी एविएशन ने हाल ही में उबर टेक्नोलॉजीस इनकॉरपोरेशन के फ्लाइंग कार डिविजन को खरीद लिया है. इस डील में उबर ने अपनी तरफ से 75 मिलियन डॉलर्स यानी 547 करोड़ रुपये से ज्यादा का फंड भी दिया है. साथ ही ये डील भी हुई है कि उबर अपने ऐप में जोबी एविएशन की एयर टैक्सी को जोड़ेगा. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 6/9

जोबी एविएशन का प्लान है कि वह साल 2024 में लॉस एंजिल्स, मियामी, न्यूयॉर्क और सैन फ्रांसिस्को में एयर टैक्सी सर्विस की शुरुआत करेगा.  कंपनी को लगता है कि वह सभी जरूरी कानूनी सहमतियों को हासिल कर लेगा. लोगों का विरोध भी बर्दाश्त कर लेगा. क्योंकि कुछ कंपनियों इस डिजाइन के एयरक्राफ्ट को सड़कों के ऊपर उड़ने को खतरनाक बता रहे थे. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 7/9

जोबेन बीवर्ट जोबी एविएशन की शुरुआत साल 2009 में की थी. उसके पहले उन्होंने दो तकनीकी कंपनियों को फायदे में बेचा था. उन्होंने सपना देखा कि वो उड़ने वाली कारें बनाएंगे. उन्होंने पिंट्रेस्ट इनकॉर्पोरेशन के एक्जीक्यूटिव चेयरमैन पाउला सियारा के साथ काम किया. बिजनेस का तरीका सीखा. (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 8/9

पिछले साल ही अमेरिकी एयरफोर्स ने जोबी एविएशन को अपनी तरफ से उड़ान भरने का क्लियरेंस दिया है. अगले साल जोबी एविएशन 10 एयक्राफ्ट की टेस्टिंग करेगा. जोबी के एक एयरक्राफ्ट के उड़ान की कीमत आम हेलिकॉप्टर के खर्च का 25 फीसदी ही है. ये बात इसे और पसंदीदा बनाती है. इसके अलावा इसमें सुरक्षा के सारे इंतजाम है. साथ ही यह प्रदूषण नहीं फैलाता. यह हेलिकॉप्टर मेडिकल इमरजेंसी और आपदा राहत में भी मदद कर सकता है. लेकिन यह युद्ध के लिए नहीं बना है.  (फोटोः जोबी एविएशन)

Air Taxi will Fly in 2024
  • 9/9

जोबेन बीवर्ट कहते हैं कि फिलहाल वो एक ऐसे प्लेन को तैयार करना चाहते हैं जो शहरों के बीच उड़ सके. अभी उनके एयरक्राफ्ट सिर्फ शहर के अंदर ही सेवाएं दे पाएंगे. यानी किसी शहर के एक कोने से दूसरे कोने तक. या फ्लाइट पोर्ट से किसी ऊंची इमारत पर बने हेलिपैड तक. लेकिन अभी ये एयरक्राफ्ट लंबी दूरी के लिए नहीं बने हैं. इन्हें शहरों के बीच बनाने के लिए थोड़ा समय और लगेगा. (फोटोः जोबी एविएशन)