scorecardresearch
 

मंगल की 5 चमत्कारी वस्तुएं संवार देगी किस्मत, जीवन में देंगी लाभ ही लाभ

ज्योतिषविदों का कहना है कि अशुभ मंगल को शुभ और मंगलकारी बनाने के लिए कुछ उपाय करने से समस्याएं दूर हो जाती हैं.

मंगल की 5 चमत्कारी वस्तुएं संवार देगी किस्मत मंगल की 5 चमत्कारी वस्तुएं संवार देगी किस्मत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अशुभ मंगल जिंदगी में अमंगल का विष घोल देता है
  • मंगल अगर मेहरबान हो तो जीवन में सब मंगल ही मंगल होता है

ग्रहों में मंगल (Mangal) को सेनापति का दर्जा दिया गया है वो इसलिए क्योंकि मंगल अगर आप पर मेहरबान हो तो जीवन में हर ओर मंगल ही मंगल होता है, लेकिन कमजोर या अशुभ मंगल जिंदगी में अमंगल का विष घोल देता है. अशुभ मंगल (Mangal dosh) को शुभ और मंगलकारी बनाने के लिए कुछ उपाय करने से समस्याएं दूर हो जाती हैं.

तांबा- तांबा मंगल की प्रमुख धातु है. यह धातु औषधीय मानी जाती है और तमाम रोगों के निवारण में इसका प्रयोग होता है. इस धातु को इतना पवित्र मानते हैं की इसको धारण करने के बाद मांसाहार नहीं करते. मंगल के लिए दान में मंगल के रत्न धारण करने में इस धातु का ही प्रयोग होता है. अगर आत्मविश्वास की कमी हो तो तांबे का एक कड़ा धारण करना लाभदायक होगा. रक्त संबंधी समस्याओं के मामले में तांबे का एक छल्ला अनामिका अंगुली में धारण करना चाहिए. तांबे के लोटे से कभी भी शिव जी को दूध अर्पित न करें.

लाल रंग- लाल रंग मंगल का प्रमुख रंग है. मंगल को शक्तिशाली करने के लिए लाल रंग का प्रयोग किया जाता है. लेकिन अगर मंगल नकारात्मक हो लाल रंग खतरनाक होता है. अगर ठंडक या सर्दी जुकाम की समस्या हो तो लाल रंग का प्रयोग ज्यादा करना चाहिए. साथ ही अगर जोड़ों के दर्द की समस्या हो तो पैरों और हाथों के जोड़ों पर लाल धागा बांधना चाहिए.

मिट्टी- मंगल को भूमिपुत्र भी कहा जाता है. भूमि और भूमि से निकलने वाली सारी चीजें मंगल के अधिकार क्षेत्र में आती हैं. मिटटी भी मंगल से ही सम्बंधित चीज है. मिटटी के बने हुए पात्र से जल पीने से क्रोध की मात्र में कमी आती है. साथ ही घर में मिटटी के गमलों में पौधे लगाने से घर में सुख शांति आती है. घर में थोड़ी सी जगह कच्ची छोड़ दी जाए (मिटटी वाली) तो बीमारियों से रक्षा होती है.

गुड़- गुड़ को मंगल से संबंधित माना जाता है. इस के नियमित सेवन से शक्ति मिलती है और रक्त बढ़ता है. अगर शरीर में रक्त की कमी हो तो नियमित रूप से भुना चना और गुड़ खाना चाहिए. अगर शल्य चिकित्सा की सम्भावना या चोट चपेट की संभावना हो तो हर मंगलवार को गुड का दान करना चाहिए.

जौ- यह शुद्ध रूप से मंगल का अनाज माना जाता है. शरीर को शुद्ध करता है और विषमुक्त करता है. शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है और रक्त को शुद्ध भी करता है. अगर मुकदमे परेशान कर रहे हों तो जौ को घर में भारी चीज से दबा देना चाहिए. अगर कर्ज बढ़ते जा रहे हों तो मंगलवार को बहते हुए पानी में जौ बहाना चाहिए. अगर मंगल की वजह से स्वास्थ्य की समस्या हो तो जौ की रोटी खानी चाहिए.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें