scorecardresearch
 

Dhanteras 2021 Shopping Timing: धनतेरस आज, लाभ के लिए इन योग में करें खरीदारी, यहां देखें शॉपिंग का शुभ मुहूर्त

Dhanteras 2021 Shubh Muhurat for Shopping: धनतेरस आज है. यानि आज से दीपोत्सव की शुरुआत हो चुकी है. इस बार धनतेरस पर हस्त नक्षत्र के साथ ही त्रिपुष्कर योग बन रहा है. इस दौरान किए गए शुभ कार्य का तीन गुना फल प्राप्त होगा. आज के दिन चांदी के बर्तनों को खरीदने की परंपरा के साथ ही सोने चांदी के सिक्के, रत्न आभूषण भी खरीदे जाते हैं.

X
तिगुने लाभ के लिए त्रिपुष्कर योग में करें खरीदारी तिगुने लाभ के लिए त्रिपुष्कर योग में करें खरीदारी
स्टोरी हाइलाइट्स
  • शॉपिंग के लिए शुभ मुहूर्त का रखें ध्यान
  • सोने-चांदी के सिक्के खरीदना भी शुभ

Dhanteras 2021 Shopping Timing: धनतेरस का पर्व कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी यानि आज मंगलवार को मनाया जाएगा. आज के दिन सोने-चांदी के अलावा बर्तन खरीदने की परंपरा हैं. इस दिन भगवान धनवंतरि की पूजा (Dhanvantari Puja 2021) के अलावा मां लक्ष्मी और कुबेर की भी पूजा की जाती है. आज के दिन खरीदारी करने के लिए शुभ मुहूर्त का खास ध्यान रखें. हालांकि धनतेरस की खरीदारी (Dhanteras 2021 Shopping) के लिए आज कई शुभ योग बन रहे हैं जिनमें खरीदारी करना फलदायी रहेगा. 

धनतेरस पर त्रिपुष्कर योग (Dhanteras 2021 Shopping subh muhurat)
ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र ने बताया कि धनतेरस पर आज त्रिपुष्कर योग बना है. त्रिपुष्कर योग में जो भी कार्य किए जाते हैं, उसका तिगुना फल मिलता है. त्रिपुष्कर योग में सोना-चांदी खरीदने के अलावा निवेश के लिए भी अच्छा मौका है. 

ज्योतिषाचार्य डॉ. अरविंद मिश्र ने बताया कि त्रिपुष्कर योग मंगलवार और द्वादशी तिथि के संयोग से बनता है. द्वादशी तिथि 1 नवंबर को दोपहर 1 बजकर 21 मिनट से और 2 नवंबर सुबह 11:30 तक रहेगी. इसलिए इस योग का लाभ आज सुबह 11 बजकर 30 मिनट तक मिलेगा. 

लाभ अमृत योग : धनतेरस पर आज ‘लाभ अमृत योग’ का निर्माण हो रहा है जो सुबह 10.30 से दोपहर के 1.30 बजे तक रहेगा. लाभ अमृत योग में भी खरीदारी करना बेहद शुभ माना गया है.

इसके अलावा, दोपहर में 3 बजे से शाम 4.30 बजे तक और शाम 7.30 बजे से रात के 9 बजे के बीच भी खरीदारी करने का शुभ समय है.

पूजा का शुभ मुहूर्त (Dhanteras 2021 Shubh Muhurt)
धनतेरस पर धनवंतरि और कुबेर की पूजा का भी विधान है. 2 नवंबर को प्रदोष काल शाम 5 बजकर 37 मिनट से रात 8 बजकर 11 मिनट तक का है. वहीं वृषभ काल शाम 6.18 मिनट से रात 8.14 मिनट तक रहेगा. धनतेरस पर पूजन के लिए शुभ मुहूर्त शाम 6.18 मिनट से रात 8.14 मिनट तक रहेगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें