scorecardresearch
 

आतंक से लड़ता है PAK, तो ये क्या है नवाज साहब?

क्या कभी आपने देखे हैं बिलखती हुई मांओं के गोद में खामोश लेटे लाल, ख्वाबों को मरा देख चीखता हुआ बाप? दुनिया के हर गम पर वक्त अपना मरहम जरूर लगाता है पर ये वो गम है जिसका महरम किसी के पास नहीं. नवाज शरीफ अभी पिछले हफ्ते ही पाकिस्तान की सरजमीन से आतंक और आतंकवाद को खत्म करने का दम भर रहे थे, जबकि जमीनी हकीकत कुछ और है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें