scorecardresearch
 

वारदात: ऐसे बना आतंकियों के कैंपों पर हमले का प्लान

14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के 24 घंटे के अंदर ही फैसला लिया जा चुका था कि इस हमले का बदला लेना है. मगर बदला कैसा होगा, कब लिया जाएगा, कहां पर लिया जाएगा. इसका फैसला तीनों सेनाध्यक्ष और एनएसए अजीत डोभाल को लेने को कहा गया. इनकी मदद के लिए खुफिया ब्यूरो आईबी और खुफिया एजेंसी रॉ को भी इस मिशन में शामिल किया गया. कई दौर की मीटिंग और अजीत डोभाल और रॉ के इनपुट के बाद एयरचीफ मार्शल ने हवाई हमले का पूरा ब्लू प्रिंट तैयार किया. भारतीय वायु सेना ने हमले की तैयारी के लिए दस दिन का वक्त मांगा था. आइए आपको बताता हूं कि इस हमले का पूरा प्लान कब कहां और कैसे बना.

The decision was taken within 24 hours of the Pulwama attack on February 14th to take revenge. But how will be happen, when will be taken, where will be taken. it was decided. Final decission taken by three Chiefs of Army Staff and NSA Ajit Doval. Intelligence Bureau and intelligence agency RAW were also included in this mission to help them. After several rounds of meetings and inputs of Ajit Doval and Raw, Airchief Marshal completed the full blue print of air strikes. Indian Air Force had asked for ten days to prepare for the attack. Let know about when and where and how full plan ready for this attack.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें