scorecardresearch
 

यहां कालिया के आतंक से कांपते थे लोग

उत्तर प्रदेश में गैंगस्‍टर श्रीप्रकाश शुक्‍ला के शूटआउट के बाद गुंडे-बदमाश नए सिरे से पनप रहे थे. लेकिन 2003 के आते-आते यूपी में जुर्म चरम पर पहुंच गया. पूर्व में मुख्‍तार अंसारी और ब्रिजेश सिंह व लखनऊ में अजीत सिंह और अखिलेश प्रताप सिंह तूती बोलने लगी. एक बार फिर गैंगवार जोरों पर थी और इस दौरान रमेश कालिया का खौफ फैलने लगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें