scorecardresearch
 

भाईचारे में क्यों खड़ी हो गई मजहब की दीवार, पूछ रहा अखलाक का परिवार

भाईचारे में क्यों खड़ी हो गई मजहब की दीवार, पूछ रहा अखलाक का परिवार

एक परिवार अब अपने दादा- परदादा के गांव नहीं जाना चाहता है. जिस गांव में चार पीढ़ियां गुजर गईं, वो गांव छोड़ना चाहता है. यह कहानी है अखलाक के परिवार की, जिसकी दादरी के बिसहेड़ा गांव में गाय का मांस खाने की अफवाह के चलते हत्या कर दी गई.

special report of 5th october 2015 on appeal to azam khan not to politicise akhlaqs death

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें