scorecardresearch
 

स्पेशल रिपोर्टः परदेसियों से ना अंखियां मिलाना...

स्पेशल रिपोर्टः परदेसियों से ना अंखियां मिलाना...

छह साल बाद पाकिस्तान की कैद से लौटे हामिद अंसारी के आंसू थमने का नाम नहीं ले रहे थे. आज सुषमा से मिलने के बाद एक बार फिर हामिद का दर्द बाहर आ गया. पाकिस्तान की कैद में छह साल बिताकर भारत लौटे हामिद जब विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के गले मिले तो वतन वापसी की खुशी आंखों के रास्ते छलक उठी. सुषमा स्वराज ने बड़े लाड़ से बेटे की तरह हामिद को गले लगाया और फिर मां को भी ढाढस बंधाया.

In an exclusive conversation Indian national Hamid Ansari speaks to Aajtak, upon his return from Pakistan. With his sense of humour intact and putting up a brave front, Hamid jokingly said, I am Hamid Ansari and I am not a spy. Rejecting claims of espionage, he said that he entered Pakistan for love and when reality struck he was caught in the Indo-Pak diplomatic heat. Today as a free man, he speaks of his experiences in Pakistan.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें