scorecardresearch
 

नहीं समझी अपनी ज‍िम्मेदारी, अब सच में कहना होगा 'So Sorry'

नहीं समझी अपनी ज‍िम्मेदारी, अब सच में कहना होगा 'So Sorry'

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने क‍िसी को संभलने का मौका ही नहीं द‍िया. पहली लहर से हम काफी हद तक न‍िजात पाने में कामयाब हुए थे, लेक‍िन सरकारों ने न सख्ती द‍िखाई न कोरोना की पहली लहर से कोई सीख लेते हुए कोई तैयारी की. वहीं लोग कोरोना की रफ्तार कम होने की खुशी में ऐसे जश्न में डूबे की सबकुछ भूल बैठे. और यही गलती हम सब पर भारी पड़ गई. लेक‍िन अब भी वक्त है संभलने का. अब नहीं संभले और अपनी ज‍िम्मेदारियों को नहीं समझे तो सो सॉरी कहने से भी काम नहीं चलेगा इसी पर आधार‍ित है हमारा हंसता-गुदगुदाता सो सॉरी का ये स्पेशल एप‍िसोड.

India is currently living through its worst nightmare in the form of a health catastrophe triggered by the second wave of coronavirus infections. Almost everybody is in a panic over the situation. Patients are dying of the deadly virus and lack access to health care. The daily numbers of corona cases and deaths have exploded in the past month, and each day now sets a new record. But we have to get alerted ahead of the third wave of the pandemic, if not now, then we may never get a chance to say 'So Sorry'. Watch this episode.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें