scorecardresearch
 

Imran बने क‍िसकी कठपुतली, कर रहे Taliban की पैरवी, देखें So Sorry

Imran बने क‍िसकी कठपुतली, कर रहे Taliban की पैरवी, देखें So Sorry

भारत ने अफगानिस्‍तान में जारी घटनाक्रम पर पैनी नजर बना रखी है. वहां अब तालिबान का शासन है और नई हुक्‍मरानों पर कई क्षेत्रीय ताकतें डोरें डालने लगी हैं. काबुल पर कब्‍जे के लिए तालिबान को मुबारकबाद देने वालों में चीन और पाकिस्‍तान ने बड़ी उत्सुकता दिखाई. अफगानिस्तान की राजधानी काबुल पर तालिबान के कब्जे के बाद पाकिस्‍तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने राष्‍ट्रीय टीवी पर कहा कि उन्‍होंने (तालिबान) अफगानिस्‍तान में मानसिक गुलामी की जंजीरें तोड़ डाली हैं. ये वही इमरान खान हैं जिनके मुल्क का खजाना साफ हो चुका है. देश भयंकर भुखमरी से जूझ रहा है, लेकिन आतंक और तालिबान की पैरवी करते नहीं थक रहे हैं. लेकिन पाकिस्तान के तालिबान प्रेम के पीछे असल चेहरा चीन है. इसी पर आधारित देखिए सो सॉरी का ये एपिसोड.

India is closely monitoring the current situation in Afghanistan. After the Taliban took over power in Afghanistan, several countries congratulated them. After the Taliban captured Kabul, the capital of Afghanistan, Pakistan PM Imran Khan said on national TV that Talibanis have broken the chains of mental slavery in Afghanistan. But China is the real face behind Pakistan's love for the Taliban. Watch this episode of So Sorry.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें