scorecardresearch
 

17 नवंबर से पहले अयोध्या पर फैसले आने की उम्मीद

17 नवंबर से पहले अयोध्या पर फैसले आने की उम्मीद

सुप्रीम कोर्ट में पूरी हुई देश के सबसे बडे़ मुकदमे पर बहस, अयोध्या विवाद पर अदालत ने सुरक्षित रखा फैसला. आज आपस में केस से जुड़े पहलुओं पर माथापच्ची करेंगे बेंच के न्यायाधीश, अगले एक महीने के अंदर फैसले की उम्मीद. कल सुप्रीम कोर्ट में निर्मोही अखाड़ा की लिखित दलील, कहा- आंतरिक औऱ बाहरी अहाता जन्मभूमि के रूप में मान्य, हमें रामलला के मंदिर के पुनर्निर्माण, रखरखाव और सेवा का मौका मिलना चाहिए.

The five judges bench of the Supreme Court on Wednesday reserved judgment on the Ayodhya-Babri Masjid land dispute after a marathon hearing of forty days. The Court has given liberty to the parties to submit written submissions in three days on the moulding of final relief. The verdict in the case can be expected before November 17, the date of retirement of CJI Gogoi, who heads the bench.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें