scorecardresearch
 

मैं भाग्य हूं: दूसरों की भावनाओं की कद्र करें

मैं भाग्य हूं: दूसरों की भावनाओं की कद्र करें

एक बार 8 साल का लड़का अपनी छोटी बहन के साथ बाजार से गुजर रहा था. अचानक उसे लगा कि उसकी बहन पीछे रह गई है. वो रुका और पीछे मुढ़ कर देखा तो उसकी बहन एक खिलौने की दुकान पर खड़ी कोई चीज देख रही थी. लड़का पीछे आया और बहन से पूछा तुम्हे कुछ चाहिए. लड़की ने एक गुड़िया की ओर उंगली उठाई और दूसरे बाद बच्चा उसका हाथ पकड़ता है और जिम्मेदार बड़े भाई की तरह अपनी बहन को वो गुड़िया देता है. बहन बहुत खुश हो गई. पूरी कहानी के लिए देखिए मैं भाग्य हूं.

In Mai Bhagya Hoon we always tell you a story. A story which always gives you a life lesson. Today in Mai Bhagya Hoon we will tell you a story of brother and sister. We will also tell your horoscope in this episode. To know about this interesting story watch Mai Bhagya Hoon.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें