scorecardresearch
 

मैं भाग्य हूं: कहानी 'भाग्य' की, सीख 'कर्म' की

मैं भाग्य हूं.... आपका भाग्य.... जो आपको अपने यानी भाग्य के भरोसे नहीं बल्कि कर्म के भरोसे रहने की राह दिखाता है. लेकिन मेरे लाख समझाने के बावजूद आज के वैज्ञानिक युग में सफलता और असफलता को किस्मत का खेल मानने वाले लोगों की संख्या भी कम नहीं है. भाग्य के भरोसे बैठने से कुछ हासिल होने वाला नहीं यह बात जानते हुए भी अनगिनत लोग लकीर के फकीर बने रहते हैं. मैं आपको समझाता हूं सफलता या असफलता उसे ही मिलती है जो उठकर योजना बनाने की कोशिश करता है. भाग्य या किस्मत के भरोसे बैठकर सफलता की राह देखने वालो के कुछ हाथ नहीं आता. सफलता उसे ही मिलती है. जो उसे पाने की दिन रात कोशिश करता है.

In this episode of Main Bhagya Hoon, we will talk about the importance of actions. A person cannot get anything in life, if he does not do actions in that direction. To achieve something in life, it is important that we should perform actions. One should not depend on luck. Watch the video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें