scorecardresearch
 

खबरदार: 84 के दंगों पर राहुल गांधी की 'लीपापोती'

जर्मनी से लेकर इंग्लैंड तक राहुल गांधी ने पिछले चार दिन में खूब बोला है.उस पर खूब राजनीति हुई है.लेकिन राहुल गांधी की जो बात कांग्रेस के लिए सियासी बारूद के जैसे बन गई.वो है 1984 के सिख दंगों पर उनका बयान.जिसमें उन्होंने एक तरह से फैसला सुनाते हुए अपनी पार्टी को क्लीन चिट दे दी.इससे राजनैतिक तूफान उठ गया है.जिस तूफान से कांग्रेस को खुद को बचाना है और साथ साथ राहुल गांधी को भी बचाना है.क्योंकि सिख दंगों के मामले में कांग्रेस को सीधी सीधी क्लीन चिट देकर राहुल गांधी ने उस वक्त अपने राजनैतिक विरोधियों को बड़ा मौका दे दिया है.जो वक्त इलेक्शन कैंपेन के शुरू होने का है.

From Germany to England, Rahul Gandhi has spoken a lot in the last four days.There has been a lot of politics at that.But what Rahul Gandhi's statement has become like a political gunpowder for the Congress. That is his statement on the 1984 Sikh riots.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें