scorecardresearch
 

खबरदार

LED गाड़ियां करेंगी BJP का प्रचार, पंजाब में चन्नी और मनी का कनेक्शन, देखें

22 जनवरी 2022

चुनावों में डिजिटल रैली की अनुमति है और बीजेपी इसमें बाकी पार्टियों से आगे है. भीड़ भरी रैली नहीं होनी है तो ना सही, बीजेपी ने इसका तोड़ निकाल लिया है. उसने शुरू किया है जितने सीट-उतने रथ वाला अभियान. लोगों तक पार्टी के काम पहुंचाने के लिए यूपी की 403 विधानसभा सीटों पर एलईडी वाली गाड़ियां भेजी गई हैं. इन गाड़ियों में लगी एलईडी पर बीजेपी की प्रचार सामग्री प्रदर्शित की जाएगी. पंजाब में चुनाव के मौसम में छापेमारी का दौर चल रहा है. आज शिरोमणि अकाली दल ने मुख्यमंत्री चन्नी पर भ्रष्टाचार के आरोपों की बौछार करने के लिए बाकायदा प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई और उसमें सबूतों के साथ हनी, चन्नी और मनी के कनेक्शन को जोड़ने की कोशिश की. देखें खबरदार.

अमर जवान ज्योति वॉर मेमोरियल में 'विलीन', कैसे 50 साल तक 'अखंड' रही 'ज्योति'

21 जनवरी 2022

जिस तरह राजधानी दिल्ली की पहचान है इंडिया गेट, उसी तरह पचास वर्षों से इंडिया गेट की अमिट पहचान रही है अमर जवान ज्योति. लेकिन आज इंडिया गेट की ये पहचान खत्म हो गई और अमर जवान ज्योति नेशनल वॉर मेमोरियल में मौजूद अमर जवान ज्योति में विलीन हो गई है. इसके लिए बाकायदा आयोजन हुआ. इस सेरेमनी के दौरान अमर जवान ज्योति पर पुष्प चढ़ाकर उसका सम्मान किया गया. फिर मशालों के जरिए अमर जवान ज्योति को वॉर मेमोरियल ले जाकर वहां की ज्योति से मिलाने की प्रक्रिया शुरू की गई. इंडिया गेट पर 50 वर्षों से जलती आ रही अमर जवान ज्योति बुझ गई. लेकिन इसे लेकर अब राजनीति की ज्वाला भड़क उठी है. आज खबरदार में आपको बताएंगे अमर जवान ज्योति के बारे में.

पेंगॉन्ग लेक पर चीन का निर्माणाधीन पुल, सेटेलाइट तस्वीरों से खुलासा

19 जनवरी 2022

पिछले दो साल से वार्ताओं के दौर और लद्दाख में धूल चाटने के बावजूद चीन अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. ये सेटेलाइट तस्वीरें इसकी गवाही दे रही हैं. ये तस्वीरें लद्दाख में पेंगॉन्ग लेक पर चीन के निर्माणाधीन पुल की हैं. जिसके जरिये चीन ने एक बार फिर एलएसी पर अतिक्रमण का प्लान तैयार किया है. भारत और चीन के बीच लंबे वक्त से जारी तनाव के बावजूद चीन ने भारत से पंगा लेने का नया ब्रिज तैयार कर लिया है. आखिर इस ब्रिज के निर्माण के पीछे चीन की असल मंशा क्या है और ये भारत के लिए कितनी चिंता का विषय है? देखें खबरदार.

UP में चुनावी सियासत का 'क्रिमिनल कर्मकांड', देखें खबरदार

18 जनवरी 2022

कहते हैं कि जंग और मोहब्बत में सब जायज़ है और अगर ये मोहब्बत सत्ता की कुर्सी से हो और जंग चुनावी हो तो अपराधियों और पेशेवर हिस्ट्री-शीटर्स को अपना उम्मीदवार बनाने को तमाम पार्टियां अपना जन्मसिद्ध अधिकार समझती है. समाजवादी पार्टी ने अपने इस अधिकार का इस्तेमाल करते हुए यूपी में कई अपराधियों को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया है. जिसपर बीजेपी अपना कड़ा ऐतराज दर्ज करवा रही है और अखिलेश यादव बीजेपी को उसका इतिहास याद दिला रहे हैं. देखें खबरदार.

क्या टल गया कोरोना का खतरा या पीक अभी भी बाकी? देखें खबरदार

17 जनवरी 2022

देश में अब इस बात पर चर्चा होने लगी है कि क्या कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी पड़ गई? और सवाल ये भी है कि जो एक्सपर्ट कोरोना का पीक जनवरी के अंत में बता रहे थे, क्या उनका आंकलन गलत साबित हो गया है? इसकी एक वजह ये है कि दिल्ली-मुंबई जैसे महानगरों में संक्रमण की रफ्तार कम हुई है. पिछले करीब 3 हफ्तों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार तेजी से बढ़ी थी. लेकिन ताज़ा आंकड़ों ने एक्सपर्ट्स को हैरान किया है. पिछले 24 घंटे में देश में कोरोना के 2 लाख 58 नए संक्रमित मरीज मिले हैं और 385 लोगों की मौत भी हुई है. कोरोना के नए मामलों का जो पैटर्न अभी तक आ रहा था, उसमें हर दिन केस बढ़ रहे थे. पिछले 4 दिनों से नए संक्रमितों की संख्या ढाई लाख के पार है. लेकिन पिछले तीन दिनों के मुकाबले आज कोरोना के नए केस 5 प्रतिशत कम आए हैं. हालांकि देश में संक्रमण का पॉजिटिविटी रेट पहले से बढ़कर 19.65 प्रतिशत हो गया है. आज खबरदार में बात कोरोना के मामलों में आई कमी पर. देखें वीडियो.

ना टेस्टिंग, ना ट्रेसिंग... बदल गए हैं कोरोना से जंग के नियम! देखें खबरदार

16 जनवरी 2022

भारत में शुरू हुए दुनिया के सबसे बड़े वैक्सीनेशन अभियान को आज एक साल पूरे हो गए हैं. ये एक बड़ी उपलब्धि है कि देश में अब तक वैक्सीन की 157 करोड़ डोज़ लगाई जा चुकी है. यानी देश में 18 साल से ऊपर की बड़ी जनसंख्या को कोरोना वैक्सीन की एक डोज़ लग चुकी है. इस बीच देश में कोरोना संक्रमण के मामले पिछले तीन दिनों से ढाई चाल चल रहे हैं. लेकिन दिल्ली और मुंबई में कोरोना संक्रमण के मामले लगातार कम हो रहे हैं. आज खबरदार में हम आपको बताएंगे कि क्या है दिल्ली-मुंबई में कोरोना के मामले कम होने का राज. साथ ही कोरोना टेस्ट के लिए आई ICMR की नई गाइडलाइन के बारे में भी हम आपको बताएंगे.

बढ़ी संक्रमण की रफ्तार... रैलियों पर प्रहार! देखें खबरदार

16 जनवरी 2022

साल 2022 के 15 दिन पूरे हो गए और इन 15 दिनों में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर ने ऐसा शक्ति प्रदर्शन किया है, जिससे राज्य और केंद्र सरकार के माथे पर चिंता की लकीरें हैं. देखा जाए तो एक्सपर्ट्स तीसरी लहर के पीक की भविष्यवाणी कर चुके हैं. लगातार तीसरे दिन देश में कोरोना संक्रमण के मामले 2 लाख से ऊपर हैं. कोरोना संक्रमण की हालिया स्थिति को देखते हुए चुनाव आयोग ने कोविड से जुड़ी पाबंदियों को 22 जनवरी तक बढ़ा दिया है. यानि रैलियों, पदयात्रा और रोड शो पर जो पाबंदियां 15 जनवरी तक थीं, वो अब 1 हफ्ते के लिए और बढ़ा दी गई है. जिन 5 राज्यों में चुनाव होने हैं वहां क्या है कोरोना की स्थिति खबरदार में देखें.

कोरोना के खौफ के बीच अखिलेश की 'वर्चुअल' रैली में होश उड़ाने वाली भीड़!

14 जनवरी 2022

देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार ने केंद्र और राज्य सरकारों को परेशानी में डाला हुआ है. इस रफ्तार को देखकर एक्सपर्ट यही इशारा दे रहे हैं कि तीसरी लहर धीरे-धीरे नहीं बल्कि तेजी से अपने पीक पर पहुंच रही है. पिछले 24 घंटे में देश में 2 लाख 64 हजार से ज्यादा नए मरीज मिले हैं. जबकि कल एक दिन में ही 219 लोगों की मौत हो गई. कोरोना के इन बढ़ते मामलों के बीच समाजवादी पार्टी एक वर्चुअल कार्यक्रम का आयोजन किया और इस कार्यक्रम की तस्वीरें बता रही हैं कि इसमें वर्चुअल जैसा कुछ नहीं था. 8 दिसंबर को जब चुनाव की घोषणा हुई थी तब मुख्य चुनाव आयुक्त ने साफ-साफ कहा था रैली नहीं होगी, पदयात्रा नहीं होगी, रोड शो नहीं होगी. देखें खबरदार.

12 कोच, 1053 यात्री और पटरी से उतरी ट्रेन...जलपाईगुड़ी में दर्दनाक हादसा

13 जनवरी 2022

गुवाहाटी जा रही बीकानेर एक्सप्रेस शाम करीब 5 बजे जलपाईगुड़ी में दुर्घटनाग्रस्त हो गई. इस हादसे में फिलहाल 5 लोगों की मौत की खबर है जबकि 40 लोग घायल हुए हैं. ट्रेन में करीब 1200 यात्री सवार थे. अभी तक रेस्क्यू टीम केवल 40 लोगों को ट्रेन से निकाल पाई है. हालांकि रेस्क्यू के लिए NDRF की टीम भी वहीं मौजूद है. बीकानेर एक्सप्रेस की जो 12 बोगियां पटरी से अचानक उतरीं उनमें 1053 यात्री सवार थे. इस हादसे के तुरंत बाद राहत और बचाव का काम शुरू हो गया था. उसी समय 50 से ज्यादा एंबुलेंस घटनास्थल भेजी गई थीं. घायलों को फिलहाल मैनागुड़ी अस्पताल और जलपाईगुड़ी के जिला अस्पताल ले जाया जा रहा है. ज्यादा जानकारी के लिए देखें खबरदार.

खबरदार: कोरोना की तीसरी लहर और इसके मैनेजमेंट का देखें विश्लेषण

12 जनवरी 2022

भारत में कोरोना की तीसरी लहर इस समय टॉप स्पीड पर है और ये रफ्तार संक्रमण की सुनामी लेकर आई है. एक दिन में करीब 2 लाख नए केस आ जाएं तो चिंता तो बढ़ ही जाती है. घर से बाहर निकलने वाले बहुत से लोग इस समय यही सोच रहे हैं कि बस किसी तरह संक्रमण से बच जाएं और ये लहर पार हो जाए. पिछले 2 हफ्तों में संक्रमण 1 प्रतिशत से 11 प्रतिशत तक पहुंच गया है. देश में इस समय तमाम आशंकाएं ट्रेंड कर रही हैं. इस सबके बीच आपके लिए खबरदार रहने का समय है. कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर और इसके मैनेजमेंट पर देखिए खबरदार का ये एपिसोड.

दिल्ली का 'कोरोना कार्ड'... ये संक्रमण तूफानी है? देखें खबरदार

11 जनवरी 2022

भारत में 24 घंटे में 1 लाख 67 हज़ार नए कोरोना मरीज़ पाए गए हैं जबकि 277 लोगों की मौत हुई है. चिंताजनक संकेत ये है कि देश में सिर्फ 11 दिन में कोरोना के एक्टिव केस 1 लाख से बढ़कर 8 लाख हो गए हैं. ज़ाहिर है केस ज़्यादा होंगे तो अस्पताल में भर्ती का अनुपात भी बढ़ेगा. दिल्ली में तो अभी संक्रमण बढ़ रहा है लेकिन मुंबई में लगातार चौथे दिन रोज़ सामने आने वाले कोरोना के मामले घटे हैं. इसलिए ये उम्मीद की जा रही है कि मुंबई में कोरोना की लहर का पीक गुज़र गया लेकिन अभी इसकी पुष्टि होने में समय लगेगा. दिल्ली में 15 साल से कम उम्र के 31 बच्चे अस्पताल में भर्ती हुए हैं, अधिकतर बच्चों में कोविड के अलावा पहले से कोई गंभीर बीमारी रही है. सूत्रों के अनुसार हर रोज़ OPD में बच्चों में संक्रमण के 4 से 5 मामले आ रहे हैं. डॉक्टरों का कहना है कि अस्पताल में बच्चों को बहुत कम देर रहना पड़ा है और रिकवरी तेज़ी से हुई है. ज़्यादा केस अस्पताल तक न आए इसके लिए सतर्कता ज़रूरी है. देखें खबरदार का ये एपिसोड.

कोरोना की तीसरी लहर बढ़ा रही चिंता, दिल्ली-मुंबई के अगले पांच दिन बेहद चुनौतीपूर्ण!

10 जनवरी 2022

24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 1,79,723 नए मरीज मिले हैं और 146 लोगों की मौत हुई है. दिल्ली और मुंबई में कोरोना के मामलों में विस्फोटक बढ़ोत्तरी हुई है. इन दोनों शहरों के लिए अगले 5 दिन बहुत चुनौतीपूर्ण हैं. इन दोनों शहरों के लिए ये समय मास्क पहनने और अपनी हर गैरज़रूरी मूवमेंट पर रोक लगाते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने का है. IIT कानपुर के प्रोफेसर मणीन्द्र अग्रवाल ने 'सूत्र' मॉडल के आधार पर तीसरी लहर से जुड़े कुछ पूर्वानुमान देश के सामने रखे हैं. उनके अनुसार ये लहर पिछले साल अप्रैल में आई लहर से कहीं ज़्यादा लोगों को प्रभावित कर रही है. इस लहर का पीक जनवरी खत्म होने से पहले ही आ जाएगा. उस समय कोरोना संक्रमण के प्रतिदिन आने वाले आंकड़े 4 से 8 लाख के बीच रहेंगे. देखें तीसरी लहर पर क्या है कानपुर के प्रोफेसर के पूर्वानुमान.

PM मोदी की कोरोना समीक्षा बैठक की क्या रहीं अहम बातें, खबरदार में देखें

09 जनवरी 2022

देश में कोरोना संक्रमण की वजह से स्थिति दिन पर दिन बिगड़ती जा रही है. इसको लेकर प्रधानमंत्री मोदी ने आज एक खास समीक्षा बैठक की. इस मीटिंग में पीएम ने कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर चर्चा की. पीएम मोदी ने इस समीक्षा बैठक में तीन मुख्य बातों पर जोर दिया. सबसे पहले उन्होंने वैक्सीनेशन की गति को बढ़ाए जाने की बात कही. इसके साथ ही जिला स्तर पर सभी स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने का आदेश दिया. आगे पीएम ने कहा कि वो कोविड गाइडलाइंस को लेकर जल्द ही सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक करेंगे. देखें खबरदार का ये एपिसोड.

रैलियों की 'भीड़' नहीं, 'व्यूज' से तय होगी चुनाव प्रचार की सफलता! देखें खबरदार

08 जनवरी 2022

देश के पांच राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. इस ऐलान के साथ ही एक बड़े राजनीतिक युद्ध की आधिकारिक शुरुआत हो गई है. कोरोना की तीसरी लहर के बीच होने वाले ये चुनाव काफी अलग हैं. क्योंकि इनकी घोषणा में ही रैलियों पर प्रतिबंध का निर्देश भी शामिल है. हर किसी के मन में ये बात थी कि भयानक कोरोना संक्रमण के दौर में रैलियां करना कितना उचित है और चुनाव की प्रक्रिया कैसे होगी? लेकिन चुनाव आयोग ने सारी शंकाओं का जवाब अपनी प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिया. देखें खबरदार.

PM की सुरक्षा में चूक पर सुप्रीम कोर्ट में क्या-क्या हुआ? देखें इसका विश्लेषण

07 जनवरी 2022

पंजाब में प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक का मामला हर गुज़रते दिन के साथ नये वीडियो, नये तथ्य और जानकारियां लेकर आ रहा है. देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा से खिलवाड़ होना कोई छोटी बात नहीं है. देश जानना चाहता है कि ये प्रदर्शन और पीएम की सुरक्षा में हुई चूक आकस्मिक थी या आयोजित. फिरोज़पुर में पहुंची गृहमंत्रालय की टीम ने इस पूरे मामले से जुड़े अधिकारियों से पूछताछ भी की है. इसके अलावा आज इस मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. कोर्ट ने भी ये माना कि मामला गंभीर है. कोर्ट में इस घटना से जुड़े आतंकी एंगल की भी चर्चा हुई और इसी मामले से जोड़कर खालिस्तानी संगठन SFJ का ज़िक्र सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई के दौरान हुआ. देखें खबरदार.

क्या पंजाब में लगेगा राष्ट्रपति शासन? देखें क्या हो सकते हैं आधार

06 जनवरी 2022

देश के प्रधानमंत्री की सुरक्षा में हुई लापरवाही पर केंद्र सरकार कड़े फैसले ले सकती है लेकिन क्या ये फैसला पंजाब में राष्ट्रपति शासन लागू करने की हद तक पहुंचेगा? ये एक बड़ा सवाल है. पंजाब के फिरोजपुर में असुरक्षित और अति संवेदनशील इलाके में प्रधानमंत्री का 20 मिनट एक फ्लाईओवर पर फंसा होना देश की सुरक्षा से भी जुड़ा मसला है. इस घटना के बाद राज्य सरकार पर कुछ सवाल उठ रहे है जैसे, जब एक राज्य पीएम की सुरक्षा की जिम्मेदारी नहीं ले सकता तो राज्य की सुरक्षा कैसे करेगा? ये घटना पाकिस्तान की सीमा से लगे राज्य पंजाब की सुरक्षा पर बड़ा प्रश्न चिन्ह है. प्रदर्शनकारियों का प्रधानमंत्री के रूट में इकट्ठा हो जाना, राज्य पुलिस की निष्क्रियता है और एक सवाल ये भी है कि क्या ऐसे हालात में पंजाब में निष्पक्ष चुनाव करवाना संभव है? इस पर देखें खबरदार.

पीएम मोदी के रूट की डिटेल क्यों और कैसे लीक हुई? देखें इसका विश्लेषण

05 जनवरी 2022

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा में बहुत बड़ी चूक की बात सामने आई है, पंजाब के हुसैनीवाला जाते वक्त कुछ लोगों ने पीएम का रास्ता रोक लिया, आरोप है कि बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा पंजाब के सीएम को फोन करते रहे मगर उन्होंने कोई जवाब नहीं दिया. आखिरकार पीएम बठिंडा एयरपोर्ट वापस लौटे और उन्होंने पंजाब के अधिकारियों से कहा कि अपने सीएम को धन्यवाद कहना, मैं जिंदा लौट पाया. आप सोचिए वो कौन से हालात रहे होंगे, जिनकी वजह से प्रधानमंत्री मोदी को ये बात कहनी पड़ी. सवाल ये है कि पीएम के रूट पर साज़िश का स्पीड ब्रेकर कहां से आ गया? पीएम मोदी के रूट की डिटेल क्यों और कैसे लीक हुई? इस पूरे मामले में बीजेपी बड़े षडयंत्र और पीएम की सुरक्षा में चूक का आरोप लगा रही है जबकि कांग्रेस इसे कोरी सियासत बता रही है.

ओमिक्रॉन के बढ़ते केस, क्या दिल्ली-मुंबई में लगेगा लॉकडाउन?

04 जनवरी 2022

भारत में ओमिक्रॉन की एंट्री 2 दिसंबर को हुई थी जब देश में 2 केस आये थे लेकिन अब इस बात को 1 महीना गुज़र चुका है और अब देश ओमिक्रॉन के मरीजों की संख्या 2 हज़ार के पास पहुंच चुकी हैं. पिछले एक हफ्ते में देश में कोरोना संक्रमण की दर लगभग तीन गुना बढ़ गई है. दिल्ली में आज एक बार फिर कोरोना का रिकॉर्ड टूट गया है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 5 हज़ार 481 नए मामले सामने आए और 3 लोगों की मौत हुई. हेल्थ एक्सपर्ट्स आशंका जता रहे हैं कि दिल्ली में 8 जनवरी के आसपास रोज़ाना 8 से 9 हजार केस आने की आशंका है और 15 जनवरी तक ये आंकड़ा बढ़कर 20 से 25 हज़ार मरीज तक पहुंच सकता है. देखें खबरदार.

खबरदार: कोरोना का बढ़ता कहर, लोग बेफिक्र.. तो क्या तीसरी लहर कन्फर्म है?

03 जनवरी 2022

देश की राजधानी दिल्ली और आर्थिक राजधानी मुंबई में कोरोना के मामले आउट ऑफ कंट्रोल हो गए हैं. संक्रमण की स्पीड दो बड़ी लहरों की पुष्टि कर रही है, एक है कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर जहां कोरोना का ओमिक्रॉन वैरिएंट बढ़ता ही जा रहा है और दूसरी है लापरवाही और बेफिक्री की लहर. देश में आम आदमी से लेकर नेताओं तक सब के सब 'जो भी होगा देखा जाएगा' वाले मोड में नज़र आ रहे हैं. हर जगह बेकाबू और बेफिक्र भीड़ दिखाई देने लगी है. हर तरफ भीड़ सुपर स्प्रेडर बनकर घूम रही है. चिंताजनक ये है कि वैक्सीन की डोज़ का सुरक्षा कवच भी ओमिक्रॉन के आगे कमज़ोर नज़र आ रहा है. ऐसे में भारत तीसरी लहर का मुकाबला कैसे करेगा. इस लहर में अस्पतालों में भर्ती होने की आशंका कम है या ज़्यादा? ऐसे तमाम सवालों के जवाब के लिए देखें खबरदार का ये एपिसोड.

संक्रमण के खिलाफ बच्चों को कल से मिलेगा 'सुरक्ष कवच'! देखें खबरदार

02 जनवरी 2022

कोरोना संक्रमण के खतरे के बीच कल से बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू हो रहा है. कल सुबह 8 बजे से वैक्सीन सेंटर्स पर 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों को वैक्सीन लगाई जाएगी. जिन लोगों ने कोविन एप पर रजिस्ट्रेशन करवा लिया था वो कल से वैक्सीन लगवा पाएंगे. फिलहाल देश में 15 से 18 वर्ष के करीब 10 करोड़ बच्चे हैं जिन्हें वैक्सीन दी जाएगी. वैक्सीन की रेस में दो कंपनियां भारत बायोटेक और जायडस कैडिला हैं. बच्चों को फिलहाल भारत बायोटेक की कोवैक्सीन लगाई जानी है. बच्चों को कोवैक्सीन की 2 डोज़ लगाई जाएगीं. कोवैक्सीन की दोनों डोज़ में 21 दिन का अंतर रखा जाएगा. सरकारी अस्पतालों में वैक्सीन मुफ्त लगेगी, वहीं प्राइवेट अस्पतालों में 1200 से 1400 रुपये में वैक्सीन लगेगी. देखें खबरदार का ये एपिसोड.

खबरदार: कोरोना की 'बेकाबू' स्पीड से तीसरी लहर का 'ऑल इंडिया' अलार्म!

01 जनवरी 2022

जिस डर से हम आपको पिछले एक महीने से खबरदार कर रहे थे. आज नये साल के पहले दिन वो डर सच साबित हो गया है. देश में कोरोना की तीसरी लहर का विस्फोट हो गया है और अब तेजी से कोरोना केस बढ़ने शुरु हो चुके हैं. पिछले एक हफ्ते में ही कोरोना केस तीन गुना बढ़ चुके हैं. 25 दिसंबर को 6987 केस आए थे जो 31 दिसंबर को बढ़कर 22 हजार से ज्यादा हो गये. साल 2021 के आखिरी दिन यानी 31 दिसंबर को देश में कोरोना के 22 हजार 775 केस दर्ज किए गए और 406 मौतें हुईं. 24 घंटे पहले के मुकाबले कोरोना मामलों में 36 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. 30 दिसंबर को देश में 16 हजार 764 केस आए थे. पिछले चार दिनों से देश में कोरोना के केस लगातार बढ़ रहे हैं. देश में फिलहाल एक्टिव केस की संख्या 1 लाख से ज्यादा हो गई है. देखें खबरदार का ये एपिसोड.