scorecardresearch
 

खबरदार

खबरदार: कोरोना प्रेशर, घुट रहा सिस्टम का दम!

12 अप्रैल 2021

पूरा भारत इस समय ये सोच रहा है कि अगर संक्रमित हो गए तो कहां जाएंगे. मरीज बढ़ते जा रहे हैं. 24 घंटे में 1 लाख 69 हजार से ज्यादा केस आए हैं. सिस्टम और स्वास्थ्य सुविधाओं का दम घुट रहा है. वैक्सीन की कमी है. लोगों की लापरवाही की लहर ऊंची उठती जा रही है. आज गुजरात हाईकोर्ट ने राज्य सरकार पर सख्त टिप्पणी की है कि जो दावे किए जा रहे हैं असल परिस्थिति, उससे बहुत अलग है. लोगों और राज्य सरकार के बीच भरोसे की कमी है. वहीं भारत में एक और वैक्सीन Sputnik-V को इमरजेंसी यूज़ के लिए मंजूरी दे दी गई है. ये कोवीशील्ड और कोवैक्सीन के बाद मंज़ूरी पाने वाली तीसरी वैक्सीन है. वहीं बंगाल में चुनाव आयोग ने सांप्रदायिक आधार पर वोट मांगने के आरोप में ममता बनर्जी के प्रचार पर एक दिन का प्रतिबंध लगाने की कार्रवाई की तो ममता बनर्जी ने चुनाव आयोग के खिलाफ धरने का ऐलान कर दिया. वहीं जीत-हार की बाजी, उस उत्तर बंगाल में भी खेली जानी है, जहां से गोरखालैंड की भी मांग उठती रही है. देखें खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

कोरोना से कैसे निपटेगा यूपी, महाराष्ट्र में कब थमेगा संक्रमण?

11 अप्रैल 2021

देश कोरोना की नई लहर की चपेट में है और ऐसे हालात बन गए हैं, जिसमें महाराष्ट्र जैसे राज्यों में लॉकडाउन लगाने की नौबत आ गई. महाराष्ट्र हो, दिल्ली हो या यूपी हो. नए केस के रोज रिकॉर्ड बन रहे हैं. जगह जगह पाबंदियां लगाई जा रही हैं और सभी परेशान हैं कि कोरोना की इस नई लहर से कैसे निपटा जाए और कैसे संक्रमण की चेन को तोड़ा जाए. यूपी में कोरोना की दूसरी लहर के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने क्या नया एक्शन प्लान बनाया है. आज मुख्यमंत्री योगी से हमारी सहयोगी श्वेता सिंह ने खास बातचीत की है. देखें खास कार्यक्रम, खबरदार, सईद अंसारी के साथ.

खबरदार: ऑडियो टेप पर सियासी बवाल, नतीजें से पहले हार?

10 अप्रैल 2021

देश में कोरोना की दूसरी लहर तेज होती जा रही है. शुक्रवार को चौबीस घंटे में कोरोना के 1 लाख 44 हजार से ज्यादा नये केस सामने आए हैं, जिसके बाद अब लॉकडाउन की आशंकाएं भी बढ़ती जा रही हैं. तो क्या अब देश को एक बार फिर लॉकडाउन के दौर में लौटने की तैयारी शुरु कर देनी चाहिए? वहीं बंगाल में आज चौथे चरण की वोटिंग संपन्न हुई है. 44 सीटों पर हुए मतदान में 76 फीसदी से ज्यादा वोट पड़े हैं. आज बंगाल में मतदान दिवस कम और हिंसा दिवस ज्यादा लग रहा था. कूचबिहार में आज सीआरपीएफ को गोली चलानी पड़ गईं, जिसमें चार लोगों की मौत हो गई. इस घटना पर अफसोस जताने से ज्यादा सियासत हो रही है. बंगाल की सियासत में ऑडियो धमाका हुआ है, जिसमें ममता बनर्जी के सलाहकार प्रशांत किशोर की आवाज होने का दावा बीजेपी कर रही है. बीजेपी का कहना है कि ममता के रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने टीएमसी की हार को कबूल कर लिया है. देखें खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

खबरदार: जानें वैक्सीन को लेकर आपके मन में उठ रहे हर सवाल का जवाब

09 अप्रैल 2021

पिछले वर्ष कोरोना महामारी के बीच पूरी दुनिया को वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार था क्योंकि सभी को लग रहा था कि इस महामारी का एकमात्र उपाय है - वैक्सीन. फिर चिकित्सा के इतिहास में पहली बार किसी बीमारी की वैक्सीन एक वर्ष में तैयार कर ली गई. जबकि अमूमन इस काम में 8 से 10 वर्ष लग जाते हैं. दुनिया को लगा कि उसके हाथ वो ब्रह्मास्त्र लग गया है जिसके जरिये कोरोना का अंत होना तय है. लेकिन इम्यूनिटी की जितनी उम्मीदें लगाईं गईं थीं, वैक्सीन उन पर उतनी खरी नहीं उतरी. वैक्सीन लगने के बाद भी लोगों को कोरोना हो रहा है. भारत में तो दोनों डोज़ ले चुके हेल्थ वर्कर्स और डॉक्टर्स भी अब कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. आज खबरदार में हम वैक्सीन को लेकर आपके मन में उठ रहे हर सवाल का जवाब देंगे. देखें वीडियो.

खबरदार: जानें वैक्सीन को लेकर आपके मन में उठ रहे हर सवाल का जवाब

09 अप्रैल 2021

पिछले वर्ष कोरोना महामारी के बीच पूरी दुनिया को वैक्सीन का बेसब्री से इंतजार था क्योंकि सभी को लग रहा था कि इस महामारी का एकमात्र उपाय है - वैक्सीन. फिर चिकित्सा के इतिहास में पहली बार किसी बीमारी की वैक्सीन एक वर्ष में तैयार कर ली गई. जबकि अमूमन इस काम में 8 से 10 वर्ष लग जाते हैं. दुनिया को लगा कि उसके हाथ वो ब्रह्मास्त्र लग गया है जिसके जरिये कोरोना का अंत होना तय है. लेकिन इम्यूनिटी की जितनी उम्मीदें लगाईं गईं थीं, वैक्सीन उन पर उतनी खरी नहीं उतरी. वैक्सीन लगने के बाद भी लोगों को कोरोना हो रहा है. भारत में तो दोनों डोज़ ले चुके हेल्थ वर्कर्स और डॉक्टर्स भी अब कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. आज खबरदार में हम वैक्सीन को लेकर आपके मन में उठ रहे हर सवाल का जवाब देंगे. देखें वीडियो.

नक्सलियों ने कमांडो राकेश्वर सिंह को छोड़ा, अमित शाह ने फोन पर जाना हालचाल, देखें खबरदार

08 अप्रैल 2021

3 अप्रैल को नक्सलियों के साथ मुठभेड़ में 22 जवानों की शहादत के बाद पूरा देश गमगीन था. इसी दौरान खबर आई थी कि कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह को नक्सलियों ने बंधक बना लिया है. नक्सलियों के कब्जे से सही सलामत छूटकर आए कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह अभी रायपुर में हैं. यहां उनका मेडिकल चेकअप भी हुआ है. इस दौरान केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने टेलीफोन पर राकेश्वर सिंह से बातचीत की और उनका हाल-चाल जाना है. देखें खबरदार.

खबरदार: रिकॉर्डतोड़ कोरोना दोबारा लगाएगा लॉकडाउन?

07 अप्रैल 2021

आज सबके मन में ये सवाल है कि क्या कोरोना कि रिकॉर्डतोड़ लहर अब लॉकडाउन लगाएगी? भारत में कुल केस 1 करोड़ 28 लाख के पार हो चुके हैं. ऐसे आशंका है कि 31 मई तक ये केस 1 करोड़ 42 लाख के पार जा सकते हैं. सिर्फ 62 दिन यानी लगभग 2 महीने में हर रोज आने वाले कोरोना केस की संख्या 8,365 से बढ़कर 1 लाख 15 हजार केस तक पहुंच गई है. हर रोज सामने आने वाले नये केस के मामले में महाराष्ट्र दुनिया में नंबर 3 पर है. अगले चार हफ्ते बहुत नाज़ुक हैं. एक्स्ट्रा सावधानी बरतनी होगी. कोरोना की ये भयानक लहर, भारत को लॉकडाउन और दूसरे प्रतिबंधों की तरफ धकेल रही है, रायपुर में 11 दिन का संपूर्ण लॉकडाउन लग रहा है. दिल्ली के अलावा गुजरात के 20 शहरों में, पंजाब के 9 शहरों में, राजस्थान के 10 शहरों में और ओडिशा के 10 जिलों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया गया है. नाइट कर्फ्यू कितना कारगर है और क्या इससे संक्रमण रुक सकता है? देखें खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

खबरदार: वोटों के लिए मोदी-ममता का धर्मयुद्ध?

06 अप्रैल 2021

बंगाल चुनाव में हिंदू मुस्लिम वोटों की राजनीति आज और भड़क गई, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ममता बनर्जी के मुस्लिम कार्ड पर मास्टरस्ट्रोक चल दिया. पीएम मोदी ने सीधे सीधे कुछ कहे बिना इशारों में हिंदू वोटरों तक अपना सियासी संदेश पहुंचा दिया और ममता बनर्जी पर हिंदू-मुस्लिम वोटों की राजनीति करने का आरोप भी लगा दिया. वहीं किसी अपराधी को अगर राजनीतिक सिस्टम की अनुकंपा और संरक्षण का खाद-पानी मिलता रहे तो वो गहरी जड़ें पकड़ लेता है. फिर उसे एक जेल से दूसरी जेल में ट्रांसफर करने पर भी बड़ा तमाशा खड़ा हो जाता है. यूपी के बाहुबली मुख्तार अंसारी को आज पंजाब की रोपड़ जेल से यूपी की बांदा जेल में शिफ्ट किया गया. मुख्तार ने तरह तरह की तरकीबें लगाईं. उसकी पत्नी ने यूपी में एनकाउंटर की आशंका भी जताई. वहीं उत्तरांखड के पहाड़ों में भीषण आग लगी हुई है. ये आग इतनी भीषण है कि उत्तराखंड सरकार ने केंद्र से मदद मांगी है. देखें खबरदार, श्वेता सिंह के साथ.

खबरदार: अनिल देशमुख की नैतिकता से सीएम को सीख!

05 अप्रैल 2021

महाराष्ट्र की राजनीति में आज तूफानी हवाएं चलती रहीं. वसूली कांड की वजह से अनिल देशमुख विदा हो गए. उन्होंने इस्तीफा दे दिया है. इस इस्तीफे ने महाराष्ट्र में वसूली कांड पर भड़की राजनीतिक आग में घी का काम किया है. मुंबई के पूर्व कमिश्नर परमबीर सिंह ने एक चिट्ठी लिख कर अनिल देशमुख पर 100 करोड़ रुपये की वसूली करवाने का आरोप लगाया था. आज बॉम्बे हाईकोर्ट ने इस मामले की CBI जांच की मंजूरी दी, तो देशमुख ने 6 लाइन का इस्तीफा रिलीज कर दिया. आज आपको बताएंगे कि बॉम्बे हाईकोर्ट ने ऐसा क्या कह दिया कि अनिल देशमुख के पास इस्तीफे के सिवा कोई विकल्प नहीं बचा? वहीं छत्तीसगढ़ में नक्सली हमले में 22 जवानों के शहीद होने के बाद हवाओं में आक्रोश है. ये बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. सिस्टम का प्रण है कि एक्शन में देर नहीं नक्सलियों की खैर नहीं. वहीं देश में कोरोना की दूसरी लहर अब हर रोज रिकॉर्ड बना रही है. देखें खबरदार.

खबरदार: नक्सलियों के अंत की निर्णायक की लड़ाई कब?

04 अप्रैल 2021

छत्तीसगढ़ के नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हुए हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में हाई लेवल मीटिंग की है, जिसमें गृह मंत्रालय के बड़े अधिकारियों से लेकर इंटेलीजेंस ब्यूरो और सीआरपीएफ के अधिकारी शामिल थे. छत्तीसगढ़ में हुए हमले के बाद पूरे देश का सवाल ये है कि नक्सल आतंक के खिलाफ निर्णायक लड़ाई कब होगी? कब इस आतंक का हर तरफ से सफाया किया जाएगा. पिछले कुछ वर्षों में ये मान लिया गया कि नक्सल आतंक की कमर टूट चुकी है. नक्सल आतंक पर आंख बंद करके बैठा नहीं जा सकता. पिछले साल भी छत्तीसगढ़ में बड़ा हमला हुआ था और इस साल भी ऐसा ही हुआ है. इन हमलों से नक्सली बार बार देश को चुनौती देते हैं. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को कैसे नक्सली हमला हुआ? देखें खबरदार, सईद अंसारी के साथ.

खबरदार: बंगाल में 'टूरिस्ट गैंग' Vs 'माइंड गेम', ममता बनर्जी कैसे मारेंगी 'हैट्रिक'?

03 अप्रैल 2021

72 घंटे बाद बंगाल में तीसरे दौर का मतदान होगा. इससे पहले चुनावी प्रचार अपने चरम पर है. आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बंगाल में दो रैलियां की. ममता बनर्जी ने तीन रैलियों को संबोधित किया. जबकि, यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी बंगाल में धुंआधार प्रचार किया. प्रधानमंत्री मोदी ने अपनी दोनों की रैली- दक्षिण 24 परगना के सोनारपुर और तारकेश्वर में ममता बनर्जी पर तीखा हमला किया है. इस हमले में ममता दीदी के दूसरी सीट से चुनाव लड़ने पर तंज भी था. वहीं ममता एक-एक कर पीएम के हमले पर पलटवार भी कर रही थीं. देखें खबरदार.