scorecardresearch
 

Monsoon Session में सरकार के सामने दोहरी चुनौती, 22 जुलाई को संसद कूच की तैयारी में Farmer leaders, देखें खबरदार

Monsoon Session में सरकार के सामने दोहरी चुनौती, 22 जुलाई को संसद कूच की तैयारी में Farmer leaders, देखें खबरदार

सरकार की एक चुनौती संसद के अंदर है तो दूसरी चुनौती संसद के बाहर है. किसान आंदोलन के नेता अपने मॉनसून सत्र की तैयारी कर रहे हैं और 22 जुलाई से संसद कूच करने की बात कर रहे हैं. दिल्ली पुलिस के इसी से हाथ-पांव फूले हैं, क्योंकि लाल किले की हिंसा सबने देखी है. किसान नेता ये भरोसा दे रहे हैं कि 200 लोग ही प्रदर्शन करने जाएंगे. बाहर के किसी व्यक्ति को प्रदर्शन में आने नहीं देंगे. लेकिन दिल्ली पुलिस कोई रिस्क नहीं लेना चाहती. किसान नेता जंतर-मंतर या संसद के आसपास किसान संसद लगाने की बात पर अड़े हैं. पीछे हटने को तैयार नहीं है. दिल्ली पुलिस भी नियमों का हवाला दे रही है। सुरक्षा का हवाला दे रही है। कि भीड़ इकट्ठा नहीं होने देंगे. देखें वीडियो.

Farmers are preparing to march to Parliament from July 22 during the monsoon session. Farmer leaders are giving assurance that only 200 people will take part in this protest. Farmer leaders are adamant about their decision. On the other hand, Delhi Police is also citing the rules and saying that they will not allow gathering any crowd in the state. Watch video.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें