scorecardresearch
 

Naxal Hidma के ट्रैप में फंसे सुरक्षाबल के जवान, क्या है हमले की इनसाइड स्टोरी? देखें खबरदार

Naxal Hidma के ट्रैप में फंसे सुरक्षाबल के जवान, क्या है हमले की इनसाइड स्टोरी? देखें खबरदार

छत्तीसगढ़ के नक्सली हमले में 22 जवान शहीद हुए हैं. गृह मंत्री अमित शाह ने दिल्ली में हाई लेवल मीटिंग की है, जिसमें गृह मंत्रालय के बड़े अधिकारियों से लेकर इंटेलीजेंस ब्यूरो और सीआरपीएफ के अधिकारी शामिल थे. छत्तीसगढ़ में हुए हमले के बाद पूरे देश का सवाल ये है कि नक्सल आतंक के खिलाफ निर्णायक लड़ाई कब होगी? कब इस आतंक का हर तरफ से सफाया किया जाएगा. पिछले कुछ वर्षों में ये मान लिया गया कि नक्सल आतंक की कमर टूट चुकी है. नक्सल आतंक पर आंख बंद करके बैठा नहीं जा सकता. पिछले साल भी छत्तीसगढ़ में बड़ा हमला हुआ था और इस साल भी ऐसा ही हुआ है. इन हमलों से नक्सली बार बार देश को चुनौती देते हैं. छत्तीसगढ़ के बीजापुर में शनिवार को कैसे नक्सली हमला हुआ? देखें खबरदार, सईद अंसारी के साथ.

As many as 22 jawans were killed and 31 sustained injuries in the encounter with Naxals in Chhattisgarh on Saturday. Security forces have launched an operation along the Sukma-Bijapur border. The attack was led by some 400 Maoists who surrounded the jawans from three sides in an area devoid of vegetation and rained on them machine gunfire as well as IEDs for several hours. In this episode of Khabardar, we will tell you the inside story of this encounter with Naxals.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें