scorecardresearch
 

एक और एक ग्यारह: चिदंबरम की जमानत पर चीफ जस्टिस करेंगे फैसला

पूर्व गृह मंत्री पी चिदंबरम अपने सबसे बडे़ राजनीतिक संकट का सामना कर रहे हैं. जो सीबीआई कभी उनके आदेशों की मोहताज होती थी वही आज उनके दरवाजे पर खड़ी है और खुद चिदंबरम गिरफ्तारी से बचने की कोशिश में अदालत की चौखट पर खडे़ हैं. जी हां, पी चिदंबरम ने अग्रिम जमानत की  अर्जी सुप्रीम कोर्ट में दे दी है. पहले जस्टिस रमन्ना की बेंच को सुनवाई करनी थी. लेकिन उन्होंने केस चीफ जस्टिस की बेंच को सौंप दिया.  चीफ जस्टिस रंजन गोगोई लंच ब्रेक में चिदंबरम के केस पर सुनवाई करेंगे. यानी कि फिलहाल दो घंटे तक चिदंबरम के जेल या बेल के सवाल पर सस्पेंस बना रहेगा.

A day after the Delhi High Court rejected the anticipatory bail petition of former finance minister P Chidambaram in the INX Media case, the Supreme Court on Wednesday said senior Congress leaders plea challenging the HC order will be put before the Chief Justice of India to consider for urgent listing.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें